270 मिनट में सुनी गईं 322 शिकायतें, फिर भी वापस लौटे फरियादी

Ishtyak KhanIshtyak Khan   6 Jun 2017 10:09 PM GMT

270 मिनट में सुनी गईं 322 शिकायतें, फिर भी वापस लौटे फरियादीशिकायतें सुनते जिलाधिकारी, शिकायत का लाइन में लगकर रजिस्ट्रेशन कराते फरियादी।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। जिला स्तरीय तहसील दिवस में डीएम ने 270 मिनट में बिना गैप लिए 322 शिकायतें सुनी। इसके बावजूद काफी फरियादियों को समय खत्म हो जाने पर उदास वापस लौटना पड़ा । 322 शिकायतों में सबसे अधिक जमीन पर कब्जे, राशन कार्ड और आवास की आई। जिसमें पांच का निस्तारण किया गया।

जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर सदर तहसील के सभागर में जिलाधिकारी जय प्रकाश सगर ने फरियादियों की समस्याए सुनी। डीएम को रूपेश कुमारी पत्नी सोने शंकर निवासी क्योंटरा ने बताया,“ कोटा डीलर ने उसका राशन कार्ड रख लिया है। अभी तक सही राशन देता रहा है लेकिन अब उसने देने से मना कर दिया है। जब उससे राशन कार्ड वापस करने को कहा तो उसने फटकार कर भगा दिया।”

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

वहीं अनीता देवी पत्नी मनोज कुमार निवासी ग्राम मिश्रीपुर ने बताया,“ गांव निवासी श्याम वीर शराब के नशे में आया और उसका हाथ पकडकर अश्लील हरकतें करने लगा। विरोध करने पर मारपीट कर चला गया। पति के साथ जब वह शिकायत करने पहुंची तो उसे वहां से भगा दिया।” वहीं, अरसी पत्नी श्यामू निवासी तिलक नगर ने बताया कि वह किराए के घर में रहती है कांशीराम आवास खाली पड़े हुए हैं जिसे दिलाया जाए।”

डीएम ने तहसील दिवस में आई 322 शिकायतों में पांच का मौके पर निस्तारण कर दिया। जबकि बाकी 317 शिकायतों पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि तहसील दिवस की शिकायतों का तीन दिन के अंदर निस्तारण करें।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top