कृषि वैज्ञानिकों की सलाह- सर्दी में बुवाई से बढ़ाएं गन्ने का उत्पादन  

कृषि वैज्ञानिकों की सलाह- सर्दी में बुवाई से बढ़ाएं गन्ने का उत्पादन  इस समय गन्ना की बुवाई से मिलता है अधिक उत्पादन 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

मेरठ। पश्चिमी यूपी के किसान शरद कालीन गन्ने के साथ अन्य फसलों को लगाकर अधिक मुनाफा ले सकते हैं। इसके लिए भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिक किसानों को जागरूक कर रहे हैं। शरद कालीन गन्ना बुवाई नई तकनीक का प्रयोग कर किसानों को ज्यादा लाभ मिलेगा। साथ ही गन्ने की पैदावार भी बढ़ेगी।

गन्ने को मुख्य रूप से ग्रीष्म कालीन गन्ना पेड़ी, गेहूं फसल चक्रम में उगाया जाता है। इससे किसानों को ज्यादा लाभ नहीं मिलता है। क्योंकि पश्चिमी यूपी में किसान गेहूं की फसल काटने के बाद अप्रैल और मई के प्रथम पखवाड़े में गन्ना लगाते हैं। इसमें किसान गन्ने के लाइनों के बीच की दूरी 60 सेमी रखते हैं।

ये भी पढ़ें- भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान ने किसानों की आय बढ़ाने हेतु यूपी के 8 गाँवों को लिया गोद

मई में गन्ना बोए जाने के कारण फसल को कल्ले फूटने के लिए मात्र एक माह का समय मिलता है। इस पद्धति से किसान को दो नुकसान होते हैं। पहला गन्ने की लाइनों में बीच की दूरी कम होने के कारण दूसरी फसल लगाना मुश्किल हो जाता है। दूसरा खेत में पेराई योग्य गन्नों की संख्या में लगभग 50-60 प्रतिशत तक कम रह जाती है।

शरद कालीन बुवाई से ज्यादा लाभ

भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिक डॉ. देवेन्द्र कुमार बताते हैं कि जब गन्ने की बुवाई सितंबर अक्टूबर में की जाएगी, तो गन्ने की पैदावार बढ़ेगी। शरद कालीन गन्ने की लाइनों के बीच 4-5 फिट अंतर करके दूसरी जल्द पकने वाली फसलें लाइनों के बीच में बोई जा सकती है।

ये भी पढ़ें- देशी तकनीक से गन्ने की खेती कर कमाया दोगुना मुनाफा

किसानों को किया जा रहा जागरूक

संस्थान के वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके लिए गाँव-गाँव जाकर किसानों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही कृषि विवि के स्टूडेंट्स की मदद से इसे धरातल पर उतारने का पूरा प्रयास है। अभी तक 40 से ज्यादा गाँव में स्टूडेंट और संस्थान की टीम विजिट कर चुकी है।

गन्ने के साथ दूसरी फसलों की भी कर सकते हैं बुवाई

डॉ. देवेन्द्र कुमार आगे बताते हैं, “किसान गन्ने के साथ आलू, लहसून, मिर्च, सरसो, चना, राजमा, आदि फसलों को उगा सकते हैं। इससे किसान एक साथ दोगुना मुनाफा तो कमाएंगे ही, साथ ही गन्ने की पैदावार भी ग्रीष्मकालीन बुवाई की तुलना में ज्यादा होगी। उन्होंने बताया कि अभी तक किए गए प्रयोग में यह तरीका किसानों के लिए लाभकारी साबित हुआ है।”

गन्ने के साथ अन्य फसलों की भी कर सकते हैं बुवाई

ये भी पढ़ें- गन्ने संग दूसरी फसल लगा कर कमा सकते हैं मुनाफा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top