नमाज के बाद मेरठ में थाना फूंकने की कोशिश

नमाज के बाद मेरठ में थाना फूंकने की कोशिशमेरठ के परीक्षितगढ़ थाना में पत्थरबाजी व भीड़ को खदेड़ते पुलिसकर्मी।

मेरठ। किला परीक्षितगढ़ में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पहले तो थाने में हंगामा किया फिर पुलिस बल आते देख अपने घरों की छतों से उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। जिसमें कई पुलिसकर्मियों को चोट आई है। पुलिस ने मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है , जबकि 61 लोगों के खिलाफ नाजमद केस दर्ज किया गया है। मेरठ पुलिस ने ये जानकारी ट्विट कर दी।

मामला किला परीक्षितगढ़ का है जहां 2 दिन पहले अमिताभ अग्निहोत्री नामक युवक की हत्या हो गई थी। उसी को लेकर लोगों में आक्रोश है और सोमवार को थाने में जाकर काफी हंगामा किया और जब पुलिस प्रशासन ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो लोगों ने थाने में बवाल कर दिया।

यही नहीं पुलिस ने भीड़ पर काबू पाने की कोशिश की तो वे अपने घरों की छतों पर चढ़ गए और पथराव करने लगे। इस घटना में कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। इसके बाद से परीक्षितगढ़ में तनाव का माहौल बना हुआ है। किसी तरह पुलिस पत्थरबाजों को खदेड़ने में कामयाब रही।

परीक्षितगढ़ थाने में हंगामा करती भीड़।

थाने में खड़ी गाड़ियों में भी आग लगाने की कोशिश की गई थी, लेकिन समय रहते हमने स्थिति को संभाल लिया। पथराव में हमारे दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, लेकिन अब स्थिति पर काबू पा लिया गया है। पत्थरबाजों को खदेड़ दिया गया।
विनोद कुमार, थाना अध्यक्ष परीक्षित गढ़ किला

थाना प्रभारी विनोद कुमार ने इस संबंध में बताया कि 2 दिन पूर्व अमिताभ अग्निहोत्री नामक युवक की हत्या हुई थी। हत्या आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया था। पीड़ित परिवार का आरोप है कि मामले में कई और लोग शामिल है, जिसकी जांच चल रही है।”’

भीड़ पर काबू पाती परीक्षितगढ़ पुलिस।

ये भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर: ईद पर भी बाज नहीं आए पत्थरबाज, सीआपीएफ कैंप पर किया हमला

पुलिस के मुताबिक मामले की जांच जारी है, जो दोषी होंगे उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। लेकिन लोग इसे समझने को तैयार नहीं थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

Share it
Top