Top

सोनभद्र में बांध हुआ खोखला, बाढ़ से ग्रामीण आशंकित

Bheem kumarBheem kumar   11 July 2017 12:23 PM GMT

सोनभद्र में बांध हुआ खोखला, बाढ़ से ग्रामीण आशंकितसिचांई विभाग बंधे की हालत बरसात होते ही भयावह होने लगी है।

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

दुद्धी (सोनभद्र)। सोनभद्र के दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र के वीडर गाँव में सिंचाई विभाग के बंधे की हालत बरसात होते ही भयावह होने लगी है। गड़दरवा जंगल से सटे बांध के एक हिस्से में भेड़िया, सियार, सुअर जैसे जंगली जानवर बांध में पानी पीने के लिए आते हैं और अपने पैरों व सींगों से गड्ढे खोदकर भाग जाते हैं, जिससे बांध में जगह-जगह खोखला पड़ गए है और कई जगह दरारें आ गई हैं।

बांध का सुईस वाल खराब होने से बरसात में पानी के दबाव बढ़ने पर बांध टूटने की आशंका रहती है। ग्राम प्रधान नारद पटेल ने बताया, “सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता बंधी प्रखंड द्वितीय को पिछले वर्ष ही अवगत कराया गया था और बांध की स्थिति देखते हुए तहसील दिवस में ग्रामीणों की मदद से लिखित रूप से दिया गया था, लेकिन अधिशासी अभियंता ने दो दिन मजदूरों से मिट्टी डलवाई फिर बताया कि बरसात में पानी भरे होने के कारण कार्य पूरा नहीं किया जा सकता। लेकिन अभी तक इस बांध पर कोई कार्यवाही नहीं की कई है।”

ये भी पढ़ें- यहां पर माहवारी से जुड़ी अजीबोगरीब प्रथा ले रही महिलाओं व लड़कियों की जान

ग्रामीण अशोक कुमार ने बताया कि पिछले वर्ष से ही ग्रामीण बांध की मरम्मत की मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई अधिकारी बांध की स्थिति देखने भी नहीं आया। राकेश मौर्य ने बताया, “विधायक हरिराम चेरो से लिखित रूप से ग्रामीणों ने बांध मरम्मत की मांग की, लेकिन अभी तक आश्वासन पर ही बांध टिका हुआ है।”

वहीं वीडर बांध के मत्स्य पालन, सिंचाई विभाग के अधिकृत ठेकेदार शमीम अंसारी कहते हैं, “पिछले वर्ष से ही बांध का सुईस वाल खराब है, जो अभी तक नहीं बनवाया गया और अभी बांध में पानी कम है। लिहाजा इसे दुरुस्त किया जा सकता है।”

ये भी पढें- अब चम्बल के युवा सीखेंगे फोटोग्राफी के हुनर, सुनील जाना की याद में खुलेगा फोटोग्राफी स्कूल

शमीम अंसारी आगे कहते हैं, “अगर बांध टूटता है तो मछली पालन व्यवसाय को भारी नुकसान होगा, जिससे राजस्व को हानि पहुंचेगी। साथ ही बाढ़ से किसानों का बड़े पैमाने पर नुकसान होगा। पिछले दो वर्ष पहले फुलवार गाँव के एक बांध टूटा था, जिसकी अभी तक मरम्मत नहीं की गई है, जिससे ग्रामीणों की उम्मीद टूट चुकी है।”

उपजिलाधिकारी भानु प्रताप सिंह ने बताया वीडर बांध की स्थिति को लेकर जानकारी मिली है। सिंचाई विभाग से बात कर मरम्मत के लिए कहा जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.