भूमिहीन और दिव्यांग होने के बावजूद प्रधान ने नहीं बनाया पात्र

Ishtyak KhanIshtyak Khan   3 July 2017 4:01 PM GMT

भूमिहीन और दिव्यांग होने के बावजूद प्रधान ने नहीं बनाया पात्रप्रधान की अनदेखी का शिकार परिवार

औरैया। जनपद के एक भूमिहीन ने प्रधान पर सरकारी आवास नहीं देने का आरोप लगाया है। ग्रामीण का कहना है की, प्रधान ने अपात्रों को मकान दे दिया लेकिन मुझे नहीं दिया।

जिला मुख्यालय से 37 किलोमीटर दूर ब्लाक अजीतमल के गांव शाहपुर तुमरिहां निवासी रमाकांत प्रजापति जोकि भूमिहीन है। पत्नी पप्पी देवी एक पैर से दिव्यांग है। रहने के लिए एक झोपड़ी का मात्र सहारा है।

रमाकांत का कहना है,“ आवास के लिए प्रधान से कहा तो उन्होंने पैसे मांगे, पैसे दे पाने में असमर्थ होने के कारण उसे आवास नहीं मिला। गांव के उन लोगों को आवास मिले है जिनके पास जमीन है आवास है और पैसादिया है।”

ये भी पढ़ें - घरेलू सिलेंडर लेने के लिये जेब पर पड़ेगा अतिरिक्त बोझ

गांव निवासी उमेश कुमार (28वर्ष) का कहना है, “गाँव के पात्र लोगों को प्रधान ने आवास नहीं दिलाए है जब किजो अपात्र लोग हैं उन्हें आवास दिलाए हैं।”

ग्राम प्रधान सुभाष बाबू ने बताया, “आवास के लिए किसी से पैसा नहीं मांगा है। इंदिरा आवास के लिए नाम भेजागया, लेकिन बजट न होने के कारण आवास नहीं मिला है। बजट आने पर आवास दिया जाएगा।”

खंड विकास अधिकारी अजीतमल आदित्य कुमार से इस संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “पात्रव्यक्ति स्वयं तहरीर लेकर वीडीओ कार्यालय आए जिसकी जांच वह स्वयं करा कर आवास दिलाएंगे। ये मामलामेरे संज्ञान में नहीं आया है अगर ऐसा कोई मामला है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top