मैनपुरी में पर्यावरण को संजीवनी देंगे विदेशी प्रजाति के पौधे

मैनपुरी में  पर्यावरण को संजीवनी देंगे विदेशी प्रजाति के पौधेमैनपुरी में पर्यावरण को संजीवनी देने के लिए लगाये जाएंगे विदेशी पौधे।

मैनपुरी। बिगड़ते पर्यावरण को अब संजीवनी देने के लिए विदेशी पौधों की प्रजातियों का सहारा लिया जाएगा। प्रयोग के तौर पर शहर के कुछ क्षेत्रों में रोपित कराई गई प्रजातियों के सकारात्मक परिणामों ने वन विभाग को एक नई उम्मीद बंधाई है। अब महकमा जुलाई में वृहद पौधरोपण कार्यक्रम में इन्हीं प्रजातियों के पौधों का रोपण कराकर शहर की सड़कों पर हरियाली के साथ फुलवारी बढ़ाने की कवायद करेगा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में रिकार्ड पौधरोपण कराने के बाद अब वन विभाग ने नई योजना तैयार की है। जिले को हरियाली के साथ महकाने के लिए विभाग देशी और विदेशी प्रजातियों के पौधों की संकर किस्मों का रोपण कराएगा। पिछले साल विभाग ने एक प्रयोग के तौर पर शहर के कुछ इलाकों में जरूल, जकरंदा और बॉटल वोल्स की प्रजातियों का रोपण कराया था। विभाग ने जैसा सोचा था, परिणाम भी वैसे ही मिले। अभी साल भर का समय भी पूरा नहीं हुआ है और स्थिति यह है कि अलग प्रजातियों के इन पौधों में फूल आने लगे हैं।

ये भी पढ़ें : आज का हर्बल नुस्खा: छुई-मुई में हैं हज़ार गुण

उप्र. प्रभागीय वन अधिकारी पीके उपाध्याय का कहना है, “जिले की मिट्टी में बहुत सी प्रजातियां नहीं पनप पाती हैं। इसलिए प्रयोग के तौर पर इन तीन प्रजातियों के पौधों का रोपण किया गया था। परिणाम सकारात्मक मिले हैं। इतने कम समय में दूसरी प्रजातियों के पौधों में न तो वृद्धि होती है और न ही फ्लावरिंग। लेकिन, ये प्रजातियां उम्मीद पर खरी उतरी हैं। जुलाई में होने वाले वृहद पौधरोपण में अब इन प्रजातियों के पौधों का सड़कों के दोनों किनारों के साथ डिवाइडर पर भी रोपण कराया जाएगा।”

पौधे एक नजर में

जरूल- इसका वैज्ञानिक नाम लेगरस्ट्रोम्ला स्पेशियोसा है। यह मूलत: भारत एवं दक्षिण एशिया में पाया जाता है। बेहद जल्दी बढ़ने की प्रवृत्ति के कारण इसका प्रयोग सड़कों पर छांव और सुंदरता के लिए किया जाता है।

जकरंदा- इसका वैज्ञानिक नाम जकरंदा ही है। इसे नीला गोल्ड मोहर भी कहते हैं। नीले रंग के फूलों वाला यह पौधा मूलत: मैक्सिको, मध्य अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, क्यूबा, जमैका और बहामास में पाया जाता है। गर्म क्षेत्रों में इसकी ग्रोथ बेहद जल्दी और अच्छी तरह से होती है।

बॉटल वोल्स- इन्हें ल्यूकस बोल्स के नाम से भी जानते हैं। ये पौधे सड़कों के किनारे आसानी से उग आते हैं। इनमें छांव के साथ फूल भी आते हैं। फूल एक ब्रश की तरह से दिखते हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top