झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की ज़िंदगी से कर रहे खिलवाड़ 

झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की ज़िंदगी से कर रहे खिलवाड़ प्रतीकात्मक तस्वीर

उपदेश कुमार, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

बिल्हौर (कानपुर)। क्षेत्र में फैली गंदगी और जलभराव से मच्छर पनप रहे हैं जो लोगों को बीमार कर रहे हैं। लगातार फैल रही बिमारियों के बाद भी स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां सिर्फ कागजों पर ही नज़र आ रही हैं, जबकि गाँवों में झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं।

बिल्हौर ब्लॉक के खजुरी गाँव निवासी निधि कटियार (40 वर्ष) ने बताया, ‘’एक सप्ताह से मेरे पति बुखार से पीड़ित हैं, उप स्वास्थ्य केंद्र से उन्हें आज तक दवा नहीं मिल सकी है। सीएचसी बिल्हौर में खून की जांच न हो पाने के कारण उन्हें निजी अस्पतालों में जाना पड़ रहा है।’’ तहसील क्षेत्र के चारों विकास खंड बिल्हौर, ककवन, शिवराजपुर और चौबेपुर में विभिन्न रोगों से ग्रसित बड़ी संख्या में लोग बीमार हैं। वहीं सरकारी स्वास्थ्य और विकास विभाग की लापरवाही को भांपते हुए गाँव-गाँव में झोलाछाप डॉक्टरों की फौज मौसमी बीमारियों के इलाज के नाम लोगों को जमकर लूट रही है।

ये भी पढ़ें- कृषि विश्वविद्यालयों में शिक्षक नहीं, कैसे हो खेती में सुधार ?

वहीं अरौल गाँव के अजीत कुमार पांडे (48 वर्ष) बताते हैं, “सरकार ने हमारे गाँव में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना की है, लेकिन यहां पर दवाएं और चिकित्सकीय परामर्श फार्मासिस्ट ही देते हैं, सही दवा और परामर्श न मिलने के कारण लोग मजबूरन झोलाछाप डॉक्टरों के यहां पर इलाज करवाते हैं।

बिल्हौर ब्लॉक के अरौल, मकनपुर, विषधन, ककवन, अलियापुर, उत्तरीपुरा, डोडवा, दलेलपुर, देवहा सहित शिवराजपुर, चौबेपुर में बड़ी संख्या में मुख्य चौराहों पर झोलाछाप डॉक्टरों से गुलजार दवाखाने देखे जा सकते हैं। इसके अलावा चारों ब्लाकों के खंड विकास अधिकारी भी ग्राम सभाओं की साफ-सफाई और जल निकासी व्यवस्था के लिए सक्रिय नहीं हुए हैं। इस कारण बारिश होने के बाद ग्रामीणों ने रोगों के काफी तेजी से फैलने की चिंता सता रही है।

सीएमओ डॉ. आरपी यादव ने बताया समय-समय पर झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है। यदि ऐसी कोई भी जानकारी सामने आती है तो तत्काल प्रभाव से उस पर कार्रवाई की जाएगी। जनता से भी अपील की जाती है कि किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए मैं अपनी क्षेत्रीय सीएचसी या पीएचसी में संपर्क करें जहां से उन्हें उचित चिकित्सक परामर्श मिल सकेगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top