किसानों ने जानी खेती-किसानी की कुछ नई बातें 

किसानों ने जानी खेती-किसानी की कुछ नई बातें कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारी 

खादिम अब्बास रिजवी

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

जौनपुर। एकीकृत बागबानी विकास मिशन योजना के तहत कलेक्ट्रेट स्थित प्रेक्षागृह में दो दिवसीय कार्यशाला में किसानों को खेती—किसानी की नवीन तकनीन के बारे में जागरूक किया गया। इस दौरान कई वैज्ञानिकों और एक्सपटर्स ने उन्हें बेहतर उत्पादन के लिए कई जरूरी सलाह दी। वहीं किसानों ने इस दौरान अ
पने सवाल भी किए। जिसका जवाब उन्हें विशेषज्ञों ने दिया। इसके अलावा वहां मौजूद विधायक और अधिकारियों के सामने किसानों ने अपनी समस्याएं भी गिनाईं। जिसे दूर करने का विधायक और अधिकारियों ने आश्वासन भी दिया। किसानों ने खेती—किसानी की नवीन तकनीक भी जानी।

जिला औद्योगिक विभाग के तत्वावधान में आयोजित हुई दो दिवसीय संगोष्ठी का उदघाटन विधायक डां हरेंद्र प्रताप सिंह और डीएम ने दीप प्रज्जवलित करके किया। इस दौरान विधायक ने किसानों को परंपरागत खेती के अलावा बागवानी और औद्योगिक खेती करने की सलाह दी।

डीएम ने कहा, "इस तरह की संगोष्ठी किसानों के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। यहां कृषक से जुड़ी तमाम समस्याओं का निदान होता है। कहा कि ऐसी संगोष्ठी में किसानों को जरूर भाग लेना चाहिए।"

वहीं जिला उद्यान अधिकारी हरिशंकर राम ने कहा, "किसानों को वर्षा के पानी को संचयित करके
खेती—किसानी में इस्तेमाल करना चाहिए। इससे जमीन के पानी पर निर्भरता कम होगी। जबकि वॉटर लेवल के नीचे जाने की समस्या से भी निजात मिलेगी।"

इस दौरान एक किसान राम सिंह यादव ने किस तरह जल संचयित किया जाए इस पर सवाल पूछा तो अधिकारी ने उन्हें इसका जवाब दिया। इस तरह तमाम किसानों ने संगोष्ठी में सवाल किए और विशेषज्ञों ने उसका उत्तर दिया। संगोष्ठी में विभिन्न ब्लॉक से करीब 500 से अधिक किसान आए थे। इस दौरान कार्यक्रम समन्वय डॉ सुरेश कनौजिया, डॉ नरेंद्र रघुवंशी समेत अन्य लोगों ने विचार व्यक्त किए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top