अब नहीं लगेगा माहवारी से डर, अब उन दिनों में भी स्कूल जाएंगी लड़कियां

अब नहीं लगेगा माहवारी से डर, अब उन दिनों में भी स्कूल जाएंगी लड़कियांकिशोरियों और महिलाओं को दी जा रही जानकारी।

दीनानाथ

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

भरौली (सिद्धार्थनगर)। "पहले उन दिनों में स्कूल नहीं जाते थे, डर लगता था लेकिन आज एएनएम दीदी की बात सुनकर और सेनेटरी पैड मिल जाने से हमारा डर दूर हो गया है।" ये बात कही 15 साल की करिश्मा ने। वे गाँव कनेक्शन फाउंडेशन द्वारा माहवारी स्वच्छ्ता दिवस में हिस्सा लेने आई थी।

ये भी पढ़ें- माहवारी के दिनों में भी जा सकती हैं मंदिर, छू सकती हैं अचार

जिले सिद्धार्थनगर के नेपाल सीमा से पांच किमी दूर बढ़नी ब्लाक के भरौली गाँव में विश्व माहवारी दिवस पर गाँव कनेक्शन फाउंडेशन द्वारा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर उपस्थित एएनएम ललिता देवी ने कहा, "गाँव में महिलाएं और लड़कियां माहवारी के दिनों में अभी भी पुराना कपड़ा ही इस्तेमाल करती हैं, जो कई बार गन्दा भी होता है। इससे हमेशा संक्रमण और बीमारी का खतरा मंडराया करता है। सेनेटरी पैड के इस्तेमाल से इससे बचा जा सकता है।"

महिलाओं को पैड भी दिया गया।

ये भी पढ़ें- Menstrual Hygiene Day : गाँव कनेक्शन की मुहिम, गाँव-गाँव में हो रही ‘उन दिनों’ पर बात

कार्यक्रम में सबल संस्थान के सहयोग से 18 वर्ष तक की 20 किशोरियों को निशुल्क सेनेटरी पैड का वितरण भी किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सामाजिक कार्यकत्री त्रिशला पाठक व अरुंधति का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम में 65 लड़कियों व महिलाओं ने हिस्सा लिया।

Share it
Top