20 लाख रुपए का गबन कर नटवरलाल बाबू फरार 

Ajay MishraAjay Mishra   12 July 2017 5:24 PM GMT

20 लाख रुपए का गबन कर नटवरलाल बाबू फरार प्रतीकात्मक फोटो : साभार इंटरनेट

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। लोक निर्माण विभाग के वरिष्ठ सहायक लिपिक ने कई कर्मचारियों के खातों से फर्जी तरीके से 20 लाख रुपए का भुगतान कर फरार हो चुका है। एक्सईएन ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड प्रथम ने सदर कन्नौज कोतवाली कन्नौज में दर्ज कराई रिपोर्ट में हवाला दिया है कि ‘‘इटावा जिले के कालेपुर चैकिया निवासी आलोक कुमार पुत्र रवीन्द्र सिंह वरिष्ठ लिपिक था। फरवरी 2015 में व्यवस्थापक लिपिकीय का चार्ज मिला। आलोक ने कई कर्मचारियों के खातों से 20 लाख रुपए जीपीएफ का भुगतान निकाला है।’’

ये भी पढ़ें : उन्नाव: अधिकारियों ने डकारे मनरेगा के रुपये

एक्सईएन आगे कहते हैं, ‘‘33 प्रकरण जीपीएफ भुगतान के आए थे। इसमें सात फर्जी मिले। कर्मचारी शैलेंद्र सिंह और सुरेश चंद्र आदि के खातों से जीपीएफ का तीन-तीन लाख निकाला गया है। कुछ भुगतान सीधे तो कुछ दूसरे के खातों में पहुंचकर आरटीजीएस से आरोपी ने अपने खाते में मंगवाया है।’’ विभाग की ओर से इसकी जांच भी हुई थी। बाद में रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई। एसपी हरीश चन्दर ने बताया, ‘‘पीडब्ल्यूडी के बाबू ने कई कर्मचारियों खातों से फर्जी तरीके से दस्तावेज बनाकर 20 लाख रुपए का गबन किया है। इसके बाद से वह फरार है। निर्माण खंड की ओर से एफआईआर दर्ज करा दी है। इंस्पेक्टर इसकी जांच कर रहे हैं।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top