‘चोरियों का हिस्सा मांगा तो नौकरी से निकलवाया, आखिर करनी पड़ी हत्या’

‘चोरियों का हिस्सा मांगा तो नौकरी से निकलवाया, आखिर करनी पड़ी हत्या’gaonconnection

आभा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कन्नौज। ‘हिमाचल प्रदेश में बुलाकर मेरी नौकरी लगवाई। बंद फैक्ट्री में चोरियां करवाईं और जब हिस्सा मांगा तो मारपीट कर नौकरी से निकलवा दिया। इसी वजह से मैंने हत्या कर दी।’ यह बात जिले के टडारायपुर निवासी बृजकिशोर उर्फ पुंदन ने पुलिस हिरासत में कही। बृजकिशोर बताता है कि उसने सुरेंद्र सिंह महाविद्यालय सौरिख में बीएससी मैथ द्वितीय वर्ष की परीक्षा दी है। हाल ही में गाँव के पातीराम शर्मा ने हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन में स्थित एक फैक्ट्री में उसकी नौकरी लगवाई। इसके बाद मुझसे कई चोरियां करवाई गईं। चोरी का आधा माल मुझे और टीम को व आधा माल पातीराम को मिलने पर सौदा हुआ था। लेकिन उसको कुछ भी नहीं दिया गया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उसने बताया करीब एक लाख रुपए पातीराम के ऊपर हो गया था, जब उसने अपना हिस्सा मांगा तो वह मारपीट करने लगा। यही नहीं हद तो तब हो गई जब उसने जनवरी 2017 में नौकरी से भी निकलवा दिया।

गाँव में आने का इंतजार करता रहा

थाना सौरिख के रहने वाले आरोपी ने कहा कि इसके बाद वह पातीराम के गाँव में आने का इंतजार करता रहा। पुलिस टीम प्रभारी पप्पू सिंह ठेनुआ ने बताया कि 15/16 मई की रात डेढ़ बजे के करीब बृजकिशोर ने अपने साथी हर्ष उर्फ अंशू चैहान के साथ मिलकर घर पर सो रहे पातीराम पर हसिया व डंडे से हमला किया था। आखिरकार उन्होंने उसकी हत्या कर दी और मोबाइल व टार्च लूट ले गए।

ये भी पढ़ें: आगरा में 10 हजार रुपये लूटने के लिए पूर्व फौजी की हत्या

हत्यारोपी अंशू ने बताया कि वह भी बीएससी द्वितीय वर्ष मैथ विषय का छात्र है और दोनों एक ही कालेज में साथ पढ़ते हैं। एएसपी वंशराज यादव ने वारदात का खुलासा करते हुए कहा कि हत्यारोपियों की निषानदेही पर हत्या में प्रयोग की गई सामग्री और मोबाइल आदि बरामद कर लिया गया है। दोनों को ही जेल भेज दिया गया। हत्या का मुकदमा मृतका की पत्नी गुड्डी देवी ने दर्ज कराया था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top