स्वयं प्रोजेक्ट

गाज़ियाबाद के युवक ने बनाया स्मार्ट डस्टबिन, कूड़ा भरते ही आ जाएगा मैसेज

लखनऊ। प्रदेश के गाज़ियाबाद जनपद के रहने वाले युवक पवन कुमार (20 वर्ष) ने एक ऐसा डस्टबिन बनाया है, जिसमें कूड़ा भरते ही मोबाईल पर मैसेज आ जाएगा।

गाज़ियाबाद के संस्कार कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के द्वितीय वर्ष के छात्र ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान से प्रभावित होकर यह यंत्र बनाया है। पवन कम्प्यूटर साइंस के छात्र हैं। हाल ही में सांसद और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने स्मार्ट डस्टबिन को देखा है। पवन के अनुसार मनोज तिवारी ने उनके अविष्कार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिखाने के सम्बन्ध में बोला है।

मूलतः अयोध्या के फैजाबाद के रहने वाले और गाज़ियाबाद में रहकर पढ़ाई करने वाले पवन बताते हैं, ‘‘अक्सर आसपास देखता हूँ कि कूड़ा भर जाने के बाद भी डस्टबिन सड़क पर पड़ा रहता था। कर्मचारियों को पता भी नहीं चलता था और लोग कूड़े पर कूड़ा डालते जाते है। कूड़े के ऊपर कूड़ा डालने से आसपास बदबू फलती रहती है। इसी को देखते हुए स्मार्ट डस्टबिन देखने का ख्याल आया।’’

कैसे करता है डस्टबिन काम

पवन गाँव कनेक्शन से बातचीत करते हुए बताते हैं, ‘‘इस डस्टबिन में दो सेंसर लगाया गया है। एक जीएसएस पैनल लगा हुआ है। जीएसएस में दो नम्बर अटैच किया गया है। इसमें आइसी प्रोगामिंग के जरिए कमांड सेट किया गया है। कूड़ा भरने के तीस सेकेण्ड बाद ही जीएसएस से जुड़े नम्बर पर मैसेज आ जाएगा।’’

कितना आया खर्च

पवन बताते हैं कि इसके निर्माण में 4 से 5 हज़ार रुपए का खर्च आया है। मैंने अभी बहुत छोटा डस्टबिन बनाया है। इसको अभी कहीं इस्तेमाल नहीं हो रहा लेकिन उम्मीद है कि आने वाले समय में इसका इस्तेमाल लोग करेंगे। इसके इस्तेमाल से हम अपने देश को एक साफ़ देश बना सकते है। इसे बनाने में तीन महिना लगा।

ये भी पढ़ें : 10 मजदूरों का काम अकेली करेगी ये हंसिया

पवन को इस स्मार्ट डस्टबिन के लिए कई जगहों पर सम्मानित किया जा चुका है। पवन चाहते इन दिनों एक ऐसे उपकरण बनाने पर काम कर रहे है जिसकों सड़कों पर लगाने के बाद अगर कोई सड़क पर कूड़ा फेंकेगा तो सम्बन्धित फोन पर मैसेज आ जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।