औरैया में अवैध खनन पर अधिकारियों ने बंद की अपनी सरकारी आँखें 

औरैया में अवैध खनन पर अधिकारियों ने बंद की अपनी सरकारी आँखें औरैया में अवैध खनन 

रहनुमा बेगम

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। जिले की नहरों और माइनरों से अवैध रूप से खनन किया जा रहा है। इसके अलावा किसानों के घरों की भराई की आंड में खनन भटटा स्वामी कर रहे है। खुलेआम चल रहे खनन पर जिले के अधिकारियों का कोई अंकुश नहीं है।

जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर राम गंगा नहर में दिन के समय खनन किया जा रहा है। नहर, माइनर में जहां ठेकेदार खनन करा रहे हैं। वहीं खेतों की मिटटी भी किसान के घरों की भराई किए जाने की आड लेकर भटटा स्वामी ईंटो की पथाई के लिए मिटटी उठावा रहे हैं।

ये भी पढ़ें- ग्रामीण महिलाओं तक नहीं पहुंच रहीं योजनाएं

नहर से हो रही बालू की खुदाई से नहरों में बड़े-बड़े गडढे हो रहे हैं, जिससे नहर में पानी आने के समय जानवरों के फंस जाने व युवाओं के नहाते समय डूब जाने की समस्या आ जाती है। राम गंगा, सेंगर नदी सहित अन्य माइनरों का खनन किया जा रहा है। बिधूना के हर क्षेत्रीय लोगों ने अवैध खनन को लेकर कई बार शिकायत की, लेकिन जिले का कोई भी अधिकारी शिकायत नहीं सुन रहा है।

थानाध्यक्षों की गाड़ियां नहरों के पास से निकल जाती है लेकिन हो रहे अवैध खनन को रोकने की कोई फिराक तक नहीं करता है।

ये भी पढ़ें- बिहार में दूसरी बार आयोजित होगा ‘किन्नर सांस्कृतिक महोत्सव’

इस मामले में जिलाधिकारी जय प्रकाश सागर ने कहा, "जिले में अवैध खनन की कोई शिकायत नहीं मिली है। अगर खनन हो रहा है तो एसडीएम को आदेशित कर कार्रवाई कराई जाएगी।"

पुलिस अधीक्षक संजय त्यागी ने बताया, "थानाध्यक्षों को निर्देशित कर दिया गया है कि अगर कहीं खनन में ट्रैक्टर या जेसीबी लगी पाई जाए तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर वाहन सीज किए जाए।"

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top