स्वयं प्रोजेक्ट

गाँव में लगी डीएम की चौपाल तो बन गई रोड 

विवेक राजपूत, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

इंदरगढ (कन्नौज)। जिला मुख्यालय कन्नौज से करीब 33 किमी दूर तिर्वा तहसील क्षेत्र के जिनौठी गाँव में डीएम जगदीश प्रसाद ने चौपाल लगाई तो ग्रामीणों को काफी खुशी हुई। चौपाल में ग्रामीणों ने अपनी समस्या से प्रशासन को अवगत कराया। अधिकारियों ने भी समस्या के समाधान का आश्वासन दिया।

इस दौरान चौपाल में आए झब्बूलाल (62वर्ष) ने कहा, ‘‘नर्क जैसे हालात हो गए हैं।अभी तक कोई अधिकारी नहीं आया है। हमेशा पानी भरा रहता है। खड़े भी नहीं हो सकते। तीन दिन पहले मिट्टी डालकर रोड बनी है, इससे कुछ आराम हुआ है।’’ यह कहना है 62 साल के झब्बूलाल का।

वहीं 32 साल के महावीर प्रजापति ने बताया, ‘‘आने-जाने के लिए सुविधा हुई है। साइकिल तक नहीं निकल पाती थी। गाँव के रामसिंह की पत्नी के बच्चा होने को था चार दिन पहले। लोगों ने खाट पर लिटाकर बाहर एंबुलेंस तक भिजवाया। करीब 500 मीटर पैदल चलना पड़ा। कार्यक्रम लगने से अब रोड बन गई है।’’

ये भी पढ़ें : पंजाब के गोदामों में पांच वर्ष में 700 करोड़ रुपये का सरकारी गेहूं हुआ खराब: कैग

गाँव में डीएम की चौपाल।

अफसाना (38) वर्ष कहती हैं ‘‘गांव में कीचड़ भरा था। अब अधिकारी का कार्यक्रम लगा तो रोड बन गया। निकलना भी मुश्किल था। हमको भी कालोनी और शौचालय की मांग करनी है।’’ चौपाल में एसपी हरीश चन्दर ने पुलिस विभाग से संबंधित जानकारियां दीं। कहा, दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट लगाना जरूरी है। सीएमओ डा. कृष्ण स्वरूप ने कहा, ‘‘माताएं अपने बच्चों को स्तनपान जरूर कराएं। बिना इसके बच्चे स्वस्थ्य नहीं हो सकते।’’

सीडीओ अवधेश बहादुर सिंह ने कहा, ‘‘गांव के लोग शौचालय जरूर बनवाएं। जो गरीब हैं, उनको विभाग से 12 हजार की प्रोत्साहन धनराशि मिलेगी।’’

“जिनौठी गांव पिछड़ा है। यहां रोड भी नहीं थी। रातो-रात रोड बन गई। अगर पिछड़े गांव में चैपाल लगती रही तो यहां भी विकास कार्य होते रहेंगे। अब धरातल पर विकास कार्य होंगे। गाँव में आंगनबाड़ी केंद्र बनेगा। 40 लाभार्थियों को छह-छह हजार रूपए शौचालय निर्माण के लिए पहली-पहली किस्त का स्वीकृति पत्र मिला है।”

शालिनी प्रभाकर, एसडीएम, तिर्वा-कन्नौज