Top

गोरखपुर जिले के खोराबार ब्लॉक का एक भी गाँव नहीं हो सका ओडीएफ 

Jitendra TiwariJitendra Tiwari   5 July 2017 9:18 AM GMT

गोरखपुर जिले के खोराबार ब्लॉक का एक भी गाँव नहीं हो सका ओडीएफ गाँव के लोगों को खुले में शौच न जाने के लिए जागरूक करते बच्चे। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोरखपुर। प्रशासन भले ही जिले को दिसंबर तक ओडीएफ (खुले में शौच से मुक्त गाँव) करने के लिए लंबी-चौड़ी बातें कर रहा हो। योजनाएं बनाई जा रही हों पर धरातल तक यह कितना कारगर होगा यह तो देखने वाली बात होगी। शहर से सटे खोराबार ब्लॉक के एक भी गाँव को अभी तक ओडीएफ नहीं किया जा सका है। यहां तक कि सांसद आदर्श गाँव के लिए चयनित डांगीपार भी ओडीएफ नहीं हो सका है।

खोराबार ब्लॉक में कुल 52 ग्रामसभा हैं। इनमें स्वच्छता मिशन के तहत अभी तक 31 गाँवों में ही शौचालयों का निर्माण शुरू हो सकता है। चालू वित्त वर्ष में इस ब्लॉक में 1151 शौचालय के लिए धनराशि आवंटित की गई है। इन शौचालयों के निर्माण का कार्य चल रहा है। हालांकि बीडीओ दावा कर रही हैं कि करीब एक दर्जन गाँव ओडीएफ के कगार पर पहुंच चुके हैं।

ये भी पढ़ें- यह गाँव बनेगा यूपी का पहला आदर्श ग्राम, जानिए क्या है खास

वहीं डांगीपार ग्रामसभा की बात करें तो इस वित्त वर्ष में यहां पर 115 शौचालय बन रहे हैं। ग्राम प्रधान गिरीशचंद्र सिंह के अनुसार, अभी ढाई सौ के करीब शौचालय और बनेंगे तब जाकर कहीं गाँव ओडीएफ हो पाएगा। इसी ब्लॉक की 21 ग्रामसभाओं में अभी तक शौचालय का काम शुरू ही नहीं हो सका है। इसे ओडीएफ इतनी जल्दी कैसे किया जाएगा।

यह बात समझ में नहीं आ रही है। ग्राम प्रधान गिरीशचंद्र सिंह ने बताया, “डांगीपार गाँव को ओडीएफ करने के लिए एक टीम का गठन किया गया है, जिसमें ब्लॉक के कर्मचारी से लेकर गाँव की जागरूक महिलाएं, पुरुष व युवा शामिल हैं। जो प्रतिदिन सुबह-शाम लोगों को जागरूक करते हैं और खुले में शौच के दुष्परिणाम के बारे में बताते हैं। इसके लिए बकायदे गाजे-बाजे का भी इंतजाम किया गया है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.