बारिश ने सब्जियों के दाम में लगाया महंगाई का तड़का 

Khadim Abbas RizviKhadim Abbas Rizvi   7 July 2017 5:03 PM GMT

बारिश ने सब्जियों के दाम में लगाया महंगाई का तड़का देश में 169.478 मिलियन मीट्रिक टन सब्जी का उत्पादन होता है, जिसमें से 30 प्रतिशत कीट और सूक्ष्मजीवी रोगों के कारण नष्ट हो जाता है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

जौनपुर। बारिश के चलते सब्जियों की आवक में हो रही दिक्कत के चलते सब्जियों के दाम दोगुना बढ़ गए हैं। टमाटर से लेकर खीरा और हरी मिर्ची तक के रेट दाम में तेजी आयी है। जिले भर में करीब चार पांच दिनों से बारिश हो रही है। इस बारिश ने जहां मौसम खुशगवार कर दिया है। वहीं घर के बजट पर भी बारिश का असर खूब दिखाई दे रहा है। बारिश की वजह से खाने का स्वाद भी बिगड़ गया है।

ये भी पढ़ें- कद्दू: कम लागत में ज्यादा मुनाफा देने वाली सब्जी की फसल

शहर के सब्जीमंडी निवासी सब्जी विक्रेता मोनू यादव (35वर्ष) ने बताया, “बारिश की वजह से सब्जियों की आवक प्रभावित हुई है। इस नाते सब्जियों के रेट बढ़ गए हैं।” चुंगी निवासी सब्जी विक्रेता अरविंद कुमार (50 वर्ष) कहते हैं, “इन दिनों टमाटर, पालक, हरा मिर्चा, लौकी, बैगन, नेनुआ समेत अन्य सब्जियों के दाम में बढ़ोत्तरी हुई है।”

ये भी पढ़ें- सब्जी उत्पादन में भारत होगा नंबर वन

बारिश होने की वजह से इन दिनों सब्जियों की आवक को जबरदस्त प्रभाव पड़ा है। यही वजह है कि बाहर से सब्जियां नहीं आ पा रही हैं। इसकी वजह से इन दिनों सबसे ज्यादा लाल टमाटर है। 30 से 40 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर 60 से 80 रुपए किलो तक बिक रहा है। वहीं खीरे का स्वाद भी काफी कड़वा हो गया है। खीरा भी इन दिनों 40 से 50 रुपए किलो तक बिक रहा है। इसकी वजह लोगों की थाली से खासतौर पर सलाद तो गायब ही हो गया है।

सब्जियों के दाम रुपए प्रति किलो में

पहले अब

  • पालक 10 20
  • बैगन 10 20
  • टमाटर 30—40 60—80
  • लौकी 10—15 20—25
  • तोरई 10—15 20—30
  • हरी मिर्च 15—20 40—60

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top