बस स्टेशन पर नहीं आ रही बसें, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

Ishtyak KhanIshtyak Khan   15 Jun 2017 4:20 PM GMT

बस स्टेशन पर नहीं आ रही बसें, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यानअजीतमल बस स्टेशन पर जिले व बाहरी डिपो की बसों का आना बंद हो गया है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। हाईवे बन जाने के कारण अजीतमल बस स्टेशन पर जिले व बाहरी डिपो की बसों का आना बंद हो गया है। स्टेशन पर नाममात्र की बसें आती हैं, जिससे बस स्टेशन पर अराजकतत्वों की भीड़ बढ़ती जा रही है।जिला मुख्यालय से 32 किलोमीटर दूर कस्बा अजीतमल में बस स्टेशन बने हुए 32 साल का समय हो गया है।

मंत्री गौरीशंकर के अथक प्रयास से बस स्टेशन का निर्माण कराया गया था जिस पर लाखों रुपए खर्चा हुआ था, लेकिन बस स्टैंड पर बसें न आने से बस स्टैंड खंडहर हो रहा है। वहां पर कोई भी सुरक्षा का इंतजाम नहीं है न रोशनी की व्यवस्था है। स्टेशन पर सिर्फ एक ही कर्मचारी रहता है उसे पूरा काम टार्च और मोमबत्ती की रोशनी में काम करना पड़ता है। जब से हाइवे निकला है तब से बसों ने बस स्टैंड पर आना बंद कर दिया है।

ये भी पढ़ें- इन्हें रबर का इतना शौक था कि फैमिली बिजनेस छोड़ दिया, कर्ज में डूबे और जेल की हवा तक खाई

इससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, जिससे यात्रियों को डग्गामार गाड़ियों से यात्रा करनी पड़ती है। कर्मचारी यहां बैठना पंसद तक नहीं करते हैं। अजीतमल निवासी रमेश राजपूत (28वर्ष) बताते हैं, “औरैया से अजीतमल आने का 24 रुपए तो ले लेते हैं, लेकिन अंदर न आकर हाईवे पर छोड़ देते हैं, इससे यात्रियों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है।”

स्टेशन पर तैनात कर्मचारी विनोद दीक्षित (45वर्ष) ने बताया,“ तीन दिन पहले उनका पर्स चोरी हो गया स्टेशन से। कोई व्यवस्था न होने की वजह से अंधेरे में ही काम निपटाना पड़ता है।”एआरएम हरिश्चन्द्र ने बताया कि कर्मचारी कम होने की वजह से एक ही कर्मचारी काम कर रहा है स्टेशन की व्यवस्था के लिए बजट बनाकर भेज दिया गया है पैसा आने पर व्यवस्था दुरूस्त हो जाएगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top