कागजों में उठा कूड़ा, सचिव निलंबित  

कागजों में उठा कूड़ा, सचिव निलंबित  प्रतीकात्मक फोटो 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। आईजीआरएस के तहत आने वाली शिकायतों के निस्तारण में गलत रिपोर्ट लगाना ग्राम पंचायत अधिकारी को भारी पड़ गया। डीएम ने निलंबन की कार्रवाई की है। साथ ही प्रकरण की जांच एडीओ पंचायत को सौंपी है।

जिलाधिकारी जगदीश प्रसाद के यहां जिला मुख्यालय से करीब 25 किमी दूर रहने वाले गुगरापुर ब्लॉक क्षेत्र के निकोबनपुर्वा गाँव के पूर्व सैनिक छोटेलाल ने 26 सितम्बर को शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके घर के सामने उनके गाँव के सोवरनलाल कूड़ा डालकर गंदगी फैला रहे हैं।

आईजीआरएस के माध्यम से प्रकरण की जांच ग्राम पंचायत अधिकारी अशोक कुमार प्रजापति को दी गई। सूचना विभाग से जारी प्रेस विज्ञप्ति में हवाला दिया गया है कि जांच आख्या में ग्राम पंचायत अधिकारी कूड़ा हटवाने की गलत रिपोर्ट लगाकर निस्तारण कर दिया। 24 अक्टूबर को दोबारा पूर्व सैनिक ने डीएम से कहा, ‘‘अभी तक मेरे दरवाजे के सामने कूड़ा लगा है। फर्जी तरीके से जांच आख्या प्रस्तुत की गई है।’’

ये भी पढ़ें- दिसम्बर तक जिले में ओडीएफ को गति देने के लिए मिस्त्री बने कन्नौज डीएम, खोदा गड्ढा बनाया शौचालय

इस मामले में डीपीआरओ इंद्रपाल सोनकर ने भी फोन से ग्राम पंचायत अधिकारी से बातचीत की। उन्होंने बताया, ‘‘गैरजिम्मेदारान, अविश्वसनीय रिपोर्ट की वजह से तत्काल प्रभाव से ग्राम पंचायत अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। डीएम ने उसे निलंबित कर दिया है। साथ ही एडीओ पंचायत उमर्दा को जांच अधिकारी बनाया है। 15 दिन के अंदर आरोप पत्र दाखिल करने को कहा है।’’

ये भी पढ़ें- लड़ना चाहते हैं निकाय चुनाव तो ये भी जानिए

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top