शाहजहांपुरः सरकारी अस्पताल में मरीजों से उगाही

शाहजहांपुरः सरकारी अस्पताल में मरीजों से उगाहीफाइल फोटो।

तिलहर (शाहजहांपुर)। भले ही प्रदेश में सरकार बदल गई हो लेकिन स्वास्थ्य विभाग अपने रैवेया बदलने को तैयार नहीं। जिले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर मरीजों के परीजनों से पैसे वसूले जा रहे हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

तिलहर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर सुबह के नजारे देखकर भरोसा नहीं होगा कि यह सरकारी अस्पताल है या फिर कोई सौदा करने वालों का अड्डा। यहां खुलेआम लोगों से रुपए वसूल किए जाते हैं। समसपुर गाँव के शिवकिशोर अपनी पत्नी लाली को प्रसव पीड़ा होने पर गुरुवार को यहां लेकर आया थे। रात में बच्चे का जन्म हो गया और उसके बाद नर्सों और दूसरे कर्मचारियों ने उनसे रुपए की मांग की। वो बताते हैं, “उन लोगों जब मुझसे पैसे मांगे तो मैंने कहा साहब मैं गरीब हूं मेरे पास पैसे नहीं है, तो नर्स ने गुस्से में कहा जब तक पैसे नहीं आ जाते तुम्हारी पत्नी और बच्चे को प्रसव कक्ष से बाहर नहीं किया जाएगा।”

वो आगे बताते हैं, “तब मैंने जेबें टटोल कर दो सौ रुपए दे दिए तो झिड़कते हुए बोलीं कि इतने से क्या होगा हम कई लोग हैं, सबका मेहनताना देना होगा।” तब परेशान होकर उन्होंने अपने घर से पैसे मंगवाए क्योंकि पैसे के लिए पत्नी व बच्चे को तो छोड़ नहीं सकता।

परिजनों से वसूली, बदसलूकी होने के बारे में जब तिलहर चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सूर्य कुमार गंगवार से बात की गई तो उन्होंने इस तरह की घटना के संज्ञान में होने से साफ तौर पर इंकार किया और साथ ही कहा, “यदि किसी से भी अस्पताल परिसर में पैसे की मांग की जाती है तो पीड़ित व्यक्ति मुझे लिखित शिकायत करें मैं उस पर कार्रवाई करूंगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top