Top

ट्रांसफार्मर खराब होने से 50 हजार से ज्यादा ग्रामीण परेशान

ट्रांसफार्मर खराब होने से 50 हजार से ज्यादा ग्रामीण परेशानविद्युत ट्रांसफार्मर।

बीसी यादव

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

मछलीशहर (जौनपुर)। सरकार के वादे के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर के खराब होने के 48 घंटों के भीतर बदले जाने चाहिए, लेकिन जमीनी हकीकत की बात करें तो ऐसा नहीं है।

जौनपुर के मछलीशहर और मीरगंज इलाके के करीब 25 गांवों में पिछले 25 दिनों से ट्रांसफॉर्मर खराब पड़े हैं, लेकिन इसे बदला नहीं जा रहा है। कुछ गांवों में ट्रांसफॉर्मर बदलने के लिए विभाग की ओर से भेजा गया, लेकिन टेस्टिंग के दौरान ही जल गया। ऐसे में इन गांवों के 50 हजार से ज्यादा लोगों का हाल बेहाल हो गया है। इतना ही नहीं बिजली न मिलने का असर खेती-किसानी पर भी पड़ रहा हैं जबकि विभाग को ग्रामीणों की समस्या दिखाई ही नहीं दे रही है।

मछलीशहर तहसील के जरौनरा गांव निवासी से लाल प्रताप (55वर्ष) का कहना है, “25 दिन से ज्यादा हो गया है। बिजली नहीं मिली है। ऐसे में बिजली का बिल देने से क्या फायदा है। विभाग के लोगों की लापरवाही की सजा गाँव के लोगों को उठानी पड़ रही है।” चितांव गांव निवासी से लालच चंद यादव (30 वर्ष) का कहना है, “ट्रांसफॉर्मर बदलने के लिए बार-बार शिकायत की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अब जब विभाग के लोग बिजली देना ही नहीं चाहते हैं तो हम ग्रामीण क्या करें।”

मछलीशहर एसडीओ एम प्रसाद ने बताया, “लगातार ट्रांसफॉर्मर फुंक रहा हैं। इस वजह से स्टोर पर इतना ट्रांसफॉर्मर उपलब्ध नहीं है। जैसे-जैसे ट्रांसफॉर्मर आ रहा है। गांवों में बदला जा रहा है।”

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.