उन्नाव में दिखा महापर्व का महा उल्लास, मतदाता फर्स्ट श्रेणी में पास, रिकार्डतोड़ हुआ मतदान

उन्नाव में दिखा महापर्व का महा उल्लास, मतदाता फर्स्ट श्रेणी में पास, रिकार्डतोड़ हुआ मतदानउन्नाव के सुमेरपुर में सुबह से लगी रही मतदाताओं की लाइऩ। 

उन्नाव। रविवार को जिले की छह विधानसभाआें में हुए मतदान ने अब तक के सारे रिकार्ड तोड़ नया इतिहास रच दिया। मतदाताआें की जागरुकता की वजह से जिला मतदान के मामले में फस्र्ट डिवीजन पास हुआ। आजादी के बाद से यह पहला मौका है जब विधानसभा चुनाव में जिले में 6 फीसद से अधिक मतदान हुआ है। इससे पूर्व 2012 में हुए चुनाव में जिले में 59.62 फीसद मतदान हुआ था।

जिले में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए इस बार प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। चुनाव आयोग ने भी खास तरह के इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए मतदाताआें को मतदान के प्रति जागरुक किया गया। प्रशासन द्वारा चलाए गए अभियान के तहत मतदाताआें ने भी अपनी जिम्मेदारी संभली और घर से निकलकर बंपर मतदान किया, जिसके तहत भगवंतनगर विधानसभा को छोडक़र अन्य विधानसभाआें में साठ फीसद से अधिक मतदान हुआ। जिले में साठ प्रतिशत से अधिक मतदान होने के बाद अब प्रशासनिक अधिकारियों ने भी चैन की सांस ली है।

उन्नाव में महिलाओं ने बढ़-चढ़ कर लिया मतदान में हिस्सा।

2012 में हुए चुनाव में बांगरमऊ विधानसभा में जहां 60.17 प्रतिशत, सफीपुर विधानसभा में 58.73 फीसद, मोहान में 64.35 फीसद, सदर विधानसभा में 57.45 फीसद, भगवंतनगर विधानसभा में 57.25 फीसद और पुरवा में 59.78 फीसद मतदान हुआ था। जबकि इस बार भगवंतनगर को छोडक़र अन्य सभी विधानसभाआें का प्रतिशत साठ से ऊपर रहा है। अकेले भगवंतनगर विधानसभा में 58 फीसद मतदान हुआ है।

जिले के कब-कब पड़े कितने वोट

वर्षप्रतिशत

2012 59.62

2007 47.54

2002 54.85

1996 54.84

1993 58.41

1991 48.75

1989 52.03

1985 46.03

1980 40.86

1977 42.84

1974 54.82

1969 49.53

1967 49.65

1962 42.18

1957 54.74

Share it
Top