पेट्रोल-डीजल की कीमतें नियंत्रित करेगी सरकार

लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों का लेखा-जोखा रखा।

पेट्रोल-डीजल की कीमतें नियंत्रित करेगी सरकार

लखनऊ। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी आग के बाद केन्द्र सरकार ने इस पर काबू पाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि सरकार कीमतों को नियंत्रित करने पर विचार कर रही है, और इसे हम नियंत्रित करके रहेंगे।

लखनऊ में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों का लेखा-जोखा रखते हुए कहा, "पिछले चार सालों में भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत हुई है। इस मोर्चे पर हमारी सरकार ने बड़ा काम किया है। भारत में विदेशी मुद्रा भंडार 400 मिलियन डॉलर है इसलिए आर्थिक संकट नहीं है।"

इससे पहले केन्द्र सरकार की चार साल की उपलब्धियों पर एक पीपीटी दिखाकर हर क्षेत्र में हुए प्रयासों को बताया गया। राजनाथ सिंह ने पहले की अटल बिहारी बाजपेई सरकार की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, "देश में अब 120 मोबाइल फैक्ट्रियां हो गई हैं, मोबाइल क्रांति के जनक अटल जी थे। मोदी जी उस परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं।"


मैं भी किसान हूं…

गाँव और किसान की बात करते हुए कहा, "मैं भी किसान हूं, इसलिए समझ सकता हूं, जब तक किसान धनवान नहीं, तब तक भारत धनवान नहीं बन सकता। इसीलिए मोदी सरकार ने गाँवों में सड़कों का जाल बिछाते हुए, गाँवों में बुनियादी इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया है। सरकार 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करेगी।"

देखी जा सकती है पारदर्शिता

मोदी सरकार ने पहली बार ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए 14 लाख करोड़ रुपये की व्यवस्था की थी। "केन्द्र सरकार के कामकाज में पारदर्शिता इसी से देखी जा सकती है कि हमारी सरकार के चार साल के कामकाज के दौरान किसी भी मंत्री पर आरोप तक नहीं लगा," गृह मंत्री ने कहा, "आर्थिक अपराधियों की संपत्ति विदेशों में जब्त करने के लिए कड़े कदम उठा रहे हैं।"

यह भी पढ़ें : डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ पंजाब में ट्रैक्टर मार्च, सरकार से रख लो अपने ट्रैक्टर

Share it
Share it
Share it
Top