पत्रकार पर जानलेवा हमला कर भागे बादमाश, पुलिस ने दो को दबोचा

पत्रकार पर जानलेवा हमला कर भागे बादमाश, पुलिस ने दो को दबोचानवलकांत सिन्हा। फोटो साभार: इंटरनेट

लखनऊ। गाड़ी में टक्कर की वजह से राजधानी के वरिष्ठ पत्रकार पर जानलेवा हमला करने वाले बदमाशों में दो लोगों को आखिरकार पुलिस ने शनिवार शाम गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्त में आए आरोपियों में वैभव सिंह और नीरज नाम सामने आए हैं। पुलिस दोनों बदमाशों से पूछताछ कर रही है।

गाड़ी में पीछे से ठोकर मारी

शुक्रवार देर रात ऑफिस से इंदिरानगर स्थित अपने घर लौट रहे राजधानी के वरिष्ठ पत्रकार नवलकांत सिन्हा की कार में हुसड़िया चौराहे के पास एक सफेद सफारी कार (यूपी 32 डीई 0444) ने पीछे से ठोकर मार दी। इतना ही नहीं, सफारी सवार बदमाशों ने नवलकांत को गालियां भी देनी शुरू कर दी। मगर नवलकांत ने अपनी गाड़ी आगे बढ़ा शहीद पथ की ओर चलने लगे।

बदमाशों ने किया पीछा

मगर बदमाश यहीं नहीं रुके और रास्तेभर सफारी से नवलकांत की गाड़ी का पीछा किया। सड़क पर सन्नाटा होने के कारण नवलकांत गाड़ी चलाते रहे। इंदिरानगर पहुंचने के बाद नवलकांत ने जब भीड़भाड़ वाली जगह पर गाड़ी रोकी तो बेखौफ बदमाशों ने यहां भी उनका पीछा नहीं छोड़ा और पैसे देने की मांग करने लगे। पैसे देने से मना करने पर नवलकांत के पर्स से 700 रुपए भी निकाल लिए।

तब थाने चलने को कहा

पैसे निकालने के बाद नवलकांत ने बदमाशों से थाने चलने के लिए कहा, तब बदमाशों ने असलहे निकाल कर हवा में लहराना शुरू कर दिया और जबरदस्ती नवलकांत को सफारी में बैठाने की कोशिश की। मगर अगवा करने में नाकाम रहने पर बदमाशों ने नवलकांत के सिर पर असलहे की बद से कई ताबड़तोड़ हमले किए। जिससे सिर और आंख के पास गंभीर चोटें आईं। इस हमले से नवलकांत बेहोश होकर सड़क पर ही गिर पड़े और तब तक वे बदमाश भाग गए।

गाजीपुर थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट

होश आने पर नवलकांत ने अस्पताल में इलाज कराया और फिर गाजीपुर थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ 307, 308, 394, 504 और 506 में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने शनिवार को दो बदमाशों में वैभव सिंह और नीरज को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: स्कूलों में यह क्या हो रहा है…

भाजपा नेताओं के खिलाफ मुजफ्फरनगर दंगा मामले वापस लेने पर विचार कर रही है सरकार

Tags:    Navalakant Sinha 
Share it
Top