लखीमपुर खीरी: परिजनों को मुआवजे का आश्वासन मिलने के बाद हुआ दलित लड़कियों का अंतिम संस्कार

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में दो दलित बहनों का शव पेड़ से लटका मिला, पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में बुधवार, 14 सितंबर को दो दलित बहनों का शव पेड़ से लटका मिला। अब इस मामले पर पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ी बातें सामने रखी हैं।

लड़कियों के शव मिलने के बाद निघासन थाने में केस दर्ज कर लिया गया है। लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि दोपहर के समय तीन लड़के मोटर साइकिल से आए थे और दोनों लड़कियों को बहलाकर ले गए। वहां लड़कियों की मर्जी के बिना शारीरिक संबंध बनाए। लड़कियों ने जब शादी की बात की और शादी करने की जिद पर अड़ गईं कि हमें शादी करनी हैं। इसपर लड़कों ने उनकी चुन्नी से गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद दो और लड़कों को इन लोगों ने फोनकर के बुलाया। ये लड़के लालपुर के हैं। कुल पांच लोगों ने सबूत मिटाने के लिए लड़कियों को फंदे से लटका दिया।

सभी छह आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। आरोपियों की पहचान छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ के रूप में हुई है। पुलिस ने एक अभियुक्त जुनैद को झंडी चौकी क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है, जुनैद के पैर में गोली लगी है। दोनों लड़कियों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। पुलिस ने पॉक्सो और संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने 6 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले साल की तुलना में 2021 में महिलाओं के खिलाफ अपराध में 15.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। जहां 2020 में 3,71,503 मामले दर्ज हुए थे वहीं 2021 में 4,28,278 मामले दर्ज किए गए हैं।

वहीं एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पिछले साल 2021 में महिलाओं के खिलाफ सबसे अधिक अपराधिक मामले (56,083) दर्ज किए गए हैं। महिलाओं के खिलाफ 40,738 अपराधों के साथ राजस्थान दूसरे नंबर पर आता है। इसके बाद महाराष्ट्र में 2021 में 39,526 ऐसे मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं बलात्कार के दर्ज किए गए मुकदमों में राजस्थान देश भर में नंबर वन पर है।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.