रायबरेली: मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जुलाई से एम्स की ओपीडी शुरू करने का दिया आदेश

रायबरेली: मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जुलाई से एम्स की ओपीडी शुरू करने का दिया आदेशसाभार:इंटरनेट।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने कार्यालय में रायबरेली एम्स का प्रस्तुतिकरण देखने के बाद इसी साल जुलाई से एम्स की ओपीडी शुरू करने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि वे रायबरेली एम्स के निर्माण में तेजी लाएं, ताकि समय से ओपीडी शुरू हो। इसके अलावा सितंबर-2019 से यहां पढ़ाई भी शुरू करने को कहा है।

प्रस्तुतिकरण के दौरान अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि पहले चरण में आवासीय, हॉस्टल तथा अस्थायी ओपीडी का काफी काम हो चुका है, जबकि द्वितीय चरण में 600 बेड के अस्पताल के साथ, 100 एमबीबीएस विद्यार्थियों की क्षमता वाले एकेडमिक ब्लॉक के लिए टेंडर की कार्यवाही चल रही है। इसका निर्माण अप्रैल से शुरू होगा। इसे मार्च, 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि रायबरेली एम्स के हाउसिंग कॉम्प्लेक्स की क्षमता 1397 होगी, जिसमें भूतल के अलावा सात तल होंगे।

ये भी पढ़ें- मरीजों को राहत, एम्स में 500 रुपए तक के सभी टेस्ट होंगे मुफ्त

अधिकारियों ने उन्हें बताया कि अस्थायी ओपीडी की सुविधा पूरी हो चुकी है। रजिस्ट्रेशन और डिस्पेंसरी के लिए नए ब्लॉक बन गए हैं। अस्थायी ओपीडी में जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी, पीडियाट्रिक्स, ईएनटी ऑर्थोपेडिक, गायनकॉलजी, डेंटल और ऑप्थेल्मॉलजी की सुविधाएं मिलेंगी।

600 बेड के स्पेशियलिटी अस्पताल में जनरल सर्जरी (40 बेड), जनरल मेडिसिन (40 बेड), पीडियाट्रिक्स (40 बेड), ऑर्थोपेडिक्स (30 बेड), ऑप्थेलकॉलजी (20 बेड), साइकियाट्री (10 बेड), डर्मेटॉलजी (10 बेड), ईएनटी (20 बेड), ऑब्सटेरिक्स व गाइनी (60 बेड), पीएमआर (15 बेड), न्यूरॉयजी (25 बेड), सर्जिकल ऑन्कॉलजी (30 बेड), एंडोक्रिनोलॉजी (25 बेड), मेडिकल ऑन्कॉलजी (20 बेड), पीडियाट्रिक सर्जरी (20 बेड), न्यूरो सर्जरी (30 बेड), गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी (25 बेड), यूरॉलजी (25 बेड), कार्डियॉलजी (30 बेड), सीटीवीएस (30 बेड), नेफ्रॉलजी (25 बेड) और इमरजेंसी (30 बेड) शामिल हैं।

ये भी पढ़ें- नहीं लेते हैं पूरी नींद ? खुद को ही खाने लगेगा आपका दिमाग

ओपीडी में मिलेंगी ये सुविधाएं

रायबरेली एम्स में जुलाई से शुरू होने वाली ओपीडी के लिए पदों का सृजन किया जा चुका है। अधिकारियों ने बताया कि अस्थायी ओपीडी में रजिस्ट्रेशन व डिस्पेंसरी के लिए नए ब्लॉक की स्थापना की गई है। मरीजों व तीमारदारों के लिए बड़ा वातानुकूलित प्रतीक्षालय बनाया गया है।

अस्थायी ओपीडी में जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी, पीडियाट्रिक्स, इएनटी ऑर्थोपेडिक, गायनकोलॉजी, डेंटल तथा ऑप्थेल्मोलॉजी की सुविधाएं शामिल होंगी। साथ ही डायग्नोस्टिक्स के तहत रेडियोलॉजी, एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, ईसीजी व लैबोरेटरी की सुविधा भी उपलब्ध होगी। अन्य सहूलियतों में माइनर ओटी, ट्रीटमेंट रूम, फार्मेसी, कैफेटेरिया व स्टाफ ऑफिस शामिल हैं।ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

संबंधित खबरें- दुर्घटना के बाद ऐसे पहुंचाएं अस्पताल, बचाई जा सकती है जान

ट्रॉमा सेंटर केजीएमयू: अब पहले इलाज, बाद में जांच

Tags:    AIIMS 
Share it
Share it
Share it
Top