बदमाशों का काल बनी शामली पुलिस, 15 दिन में तीन बदमाशों का एनकाउंटर

बदमाशों का काल बनी शामली पुलिस, 15 दिन में तीन बदमाशों का एनकाउंटरशामली पुलिस ने बीते 15 दिनों में तीन बदमाशों को लूट के दौरान मुठभेड़ में मार गिराया।

लखनऊ। पश्चिम यूपी में अब बदमाशों की शामत आ गई है, जहां एक ओर विपक्ष कानून-व्यवस्था को लेकर मुद्दा बना रहा है, वहीं दूसरी ओर शामली पुलिस ने बीते 15 दिनों में तीन बदमाशों को लूट के दौरान मुठभेड़ में मार गिराया। जबकि इन मुठभेड़ों में कई पुलिसवाले भी घायल हुए, जिन्हें बदमाशों ने गोली मार दी। शामली पुलिस की इस जाबाजी को देख जिले के लोग बेखौफ होकर जी रहें हैं।

शामली पुलिस ने एक बार फिर शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में बाइक लूटने के दौरान गोली मार दी, जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि मौके से बादमाश का दूसरा साथी भागने में सफल रहा। इस दौरान शामली पुलिस के भी दो जवान गोली लगाने से घायल हो गए, जिसकी अस्पताल जाते वक्त मौत हो गई। वहीं फरार बदमाश की तलाश में पूरे जिले में चेकिंग अभियान चला पकड़ने का प्रयास कर रही है।

एसपी शामली अजय पाल शर्मा ने बताया, थाना कैराना क्षेत्र में गुरुवार देर रात पुलिस को दो बदमाशों द्वारा शामली बलवा गेट के पास से मोटर साइकिल छीन कर भागने की सूचना मिली थी। जिस पर थाना कैराना व एसओजी पुलिस टीम द्वारा कैराना बाईपास के पास बदमाशों की घेराबंदी कर रोकने के प्रयास करने पर बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी।

ये भी पढ़ें: यूपी पुलिस में जल्द होंगी एक लाख से ज्यादा भर्तियां, लेकिन बदल गए हैं नियम

इस दौरान पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसमें एक इकराम नाम का बदमाश उम्र करीब 40 वर्ष पुत्र मुंशी निवासी कैराना, वर्तमान पता कस्बा बड़ौत को पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि मुठभेड़ के दौरान दूसरा बदमाश भागने में सफल रहा। घायल बदमाश की उपचार हेतु अस्पताल ले जाते समय उसकी मृत्यु हो गयी। वहीं मुठभेड़ के दौरान सिपाही अकुंश के बांये हाथ में व सिपाही रघुराज भी गोली लगने से घायल हो गये।

घायलों को इलाज हेतु मेडिकल कालेज मेरठ में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बदमाश इकराम के कब्जे से एक पिस्टल 32 बोर, 11 जिंदा व 6 कारतूस खोखा व लूटी गयी मोटर साइकिल, घड़ी, चैन, अॅंगूठी तथा 8,700 रुपए बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि, मृतक बदमाश के खिलाफ 15 मुकदमें दर्ज हैं तथा 2 मामलों में वह वांछित चल रहा था, जिसकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने 5000 रुपए का पुरस्कार घोषित कर रखा था। वहीं दूसरी ओर पुलिस फरार अज्ञात बदमाश की तलाश में जुट गई है।

वहीं शामली पुलिस ने कुछ दिन पहले भी कैराना थाना क्षेत्र के भूरा गांव में सुबह 4 बजे पुलिस को सूचना मिली कि नोशाद और सरवर भूरा गांव में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश करने जा रहे हैं। इसके बाद एसपी अजयपाल के नेतृत्व में शामली पुलिस ने जिले की सभी थाने की पुलिस बुलाकर गांव को चारो तरफ से घेर लिया था। इसके बाद पुलिस ने बदमाशो को पकड़ने की कोशिश की तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जिसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की। इस दौरान दोनों इनामी बदमाश नोशाद और सरवर को गोली लग गई। इसके बाद दोनों को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल जाते वक़्त रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

वहीं, घंटों चली मुठभेड़ के बाद इस एनकाउंटर में दो से ज्यादा बदमाश फरार होने में भी सफल रहे थे। शामली पुलिस की अपराधियों के खिलाफ लगातार हो रही कार्रवाई से जिले के अपराधियों में इतना खौफ है कि, शहर में अपराध की घटनाओं में कमी आई है। उधर मुजफ्फरनगर के थाना खतौली क्षेत्र में भी पुलिस ने मुठभेड़ में 12000 रुपए का पुरस्कार घोषित अपराधी गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। गुरुवार देर रात लगभग 1 बजे लूट के अभियुक्तों की नहर पुल के पास मौजूद होने की सूचना पर थाना खतौली पुलिस द्वारा कई थानों के पुलिस बल के साथ घेराबंदी की गयी और मोटर साइकिल से भाग रहे अभियुक्तों को रोकने का प्रयास किया तो बदमाशों ने पुलिस बल पर फायरिंग कर दी।

पुलिस ने जवाबी फायरिंग में एक अभियुक्त मोनू पुत्र श्याम सिंह निवासीनगली साधू थाना दौराला, जिला मेरठ के पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसे गिरफ्तार किया गया तथा दूसरा अभियुक्तमोनू पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल रहा। पुलिस मुठभेड़ के दौरान सिपाही कुलवंत के बांये हाथ मे गोली लगी तथा सिपाही सोहनवीर के बायें पैर में गोली लगने से घायल हो गए। गिरफ्तार अभियुक्त के कब्जे से 315 बोर के 05 जिन्दा कारतूस व 4 खोखा कारतूस तथा दो मोबाइल, एक लूट की मोटर साइकिल बरामद की गई है। घायलों को इलाज हेतु अस्पातल भर्ती कराया गया।

ये भी पढ़ें: यूपी : बलिया में छात्रा की चाकू मारकर हत्या करने वाले को पुलिस ने आठ घंटे में गिरफ्तार किया

Share it
Top