पुलिस की मौजूदगी में बलात्कार पीड़िता ने लगाई फांसी, मौत

पुलिस की मौजूदगी में बलात्कार  पीड़िता ने लगाई फांसी, मौतबलात्कार पीड़ित युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या की।

गाँव कनेक्शन नेटवर्क

रामगढ़/सोनभद्र। सोनभद्र के रामपुर बरकोनिया थाना इलाके के डोमरिया गाँव में जोगेन्द्र सिंह की पुत्री को दो लड़कों ने घर से उठा कर सामूहिक बलात्कार किया। इस मामले में पुलिस ने लड़की के पिता की तहरीर पर 11 जुलाई 2017 को पांच लोगों के ऊपर श्रवण कुमार, सुरेश तिवारी और काल्पनिक नाम सुषमा सिंह, कल्याणी व मोहिनी नामजद 363, 366, 376 धारा में एफआइआर दर्ज किया था।

ये भी पढ़ें- फेसबुक की मदद से मुसहर बच्चों की अशिक्षा को पटखनी दे रहा कुश्ती का ये कोच

पुलिस सुलह समझौता के लिए बना रही थी दबाव

जिसमे मुख्य आरोपी श्रवण कुमार समेत दो लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। शुक्रवार को बलात्कार मामले में पुलिस जांच करने पहुची तो लड़की के पिता जोगेन्द्र सिंह पर मामले में सुलह समझौते का दबाव बनाने लगी और लड़की के चाची समेत अन्य तीनों का नाम वापस लेने को कहा तो अचानक जोगेन्द्र सिंह बेहोश हो गए।

ये भी पढ़ें- इनकी पहल से रोशन हुई आदिवासियों की बस्ती

पिता का अपमान सह न सकी बेटी, लगा ली फांसी

इस पूरी घटना को घर में मौजूद लड़की देख व सुन रही थी और उसने पिता की जलालत बर्दास्त करने के बजाय अपने आपको को फांसी लगाकर समाप्त कर लिया। यह पूरी घटना एसओ के मौजूदगी में हुयी।

पुलिस के सामने बलात्कार पीड़िता ने दी जान

हांलाकि एसओ सतेंद्र कुमार भी इस बात की पुष्टि कर रहे है कि लड़की ने 164 के बयान में अपने चाची समेत पांच लोगो को आरोपी बनाया था लेकिन शुक्रवार को पुलिस चाची समेत अन्य तीन के नाम को निकाले जाने का दबाब बनाने लगी जिससे आहत लड़की ने पुलिस की मौजूदगी में फ़ासी लगा लिया। इसके बाद आनन् फानन में लड़की को जिला अस्पताल लाया गया जहाँ उसकी मौत हो चुकी थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top