Top

वर्ष 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी : कृष्णा राज 

Divendra SinghDivendra Singh   18 April 2018 12:56 PM GMT

वर्ष 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी : कृष्णा राज 

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कृष्णा राज ने उत्तर प्रदेश के कृषि व कृषि से जुड़े विभागों के मंत्रियों और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक में मंत्री ने 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के लिए चलाई जा रहीं योजनाओं की प्रगति पर समीक्षा की, कि कौन सा विभाग कितना काम कर रहा है।

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी की विदेश यात्रा : पशुपालन, कृषि जैसे क्षेत्रों पर कई देश मिलकर करेंगे काम  

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कृष्णा राज ने कहा कि पिछली सरकार में भी केंद्र ने यूपी को खूब पैसा दिया लेकिन तब योजनाएं जमीन तक नहीं पहुंचती थीं। अब एक साल में योजनाएं जमीन पर पहुंचनी शुरू हुई हैं। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। कृषि के साथ दुग्ध, मत्स्य, बागवानी, पशुपालन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

कृष्णा राज भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में यूपी के कृषि मंत्री, पशुधन मंत्री एसपी सिंह बघेल, कृषि विपणन राज्य मंत्री स्वाती सिंह और कृषि एवं संबंधित विभागों के अफसरों के साथ बैठक की। कृष्णा राज के साथ केंद्र सरकार के अधिकारियों की भी टीम थी। साथ ही इस साल दिए गए बजट और किए गए कामों की रिपोर्ट मांगी। उन्होंने कहा कि वह हर तीन महीने में खुद योजनाओं की समीक्षा करेंगी।

ये भी पढ़ें- कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह से खास बात : ‘किसानों की आय बढ़ाना पहला लक्ष्य’

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि आरकेवाई (राष्ट्रीय कृषि विकास योजना) का पैसा समय पर नहीं मिलता। यूपी बड़ा राज्य है। ऐसे में किसी योजना का लाभ सबसे पहले यहां पहुंचना चाहिए। यूपी में सफलता से ही कोई योजना सफल होगी। उन्होंने भरोसा दिलवाया कि प्रदेश सरकार सभी योजनाओं को पारदर्शी ढंग से लागू कर रही है।

ये भी पढ़ें- इन राज्यों के सांसदों को मिली केन्द्रीय मंत्रिमंडल में जगह

प्रदेश के पशुधन मंत्री एसपी सिंह बघेल ने सब्सिडी कम किए जाने पर केंद्र सरकार से आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि मत्स्य पालकों को दी जाने वाली सब्सिडी 70 से घटाकर 30 प्रतिशत कर दी है। यूपी में मत्स्य पालन की संभावनाएं काफी हैं। बाजार की भी कमी नहीं है। एक शहर की मछली की खपत उसी शहर में हो जाती है, लेकिन शुरुआत में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन जरूरी है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.