यूपी और बिहार तय करेंगे केंद्र की अगली सरकार: तेजस्वी

Diti BajpaiDiti Bajpai   14 Jan 2019 1:38 PM GMT

यूपी और बिहार तय करेंगे केंद्र की अगली सरकार: तेजस्वी

लखनऊ (भाषा)। सपा और बसपा के महागठबंधन से उत्साहित राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सोमवार को कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश और बिहार के नतीजे तय करेंगे कि केन्द्र में अगली सरकार किसकी बनेगी।

बसपा प्रमुख मायावती से कल रात भेंट कर आशीर्वाद लेने वाले तेजस्वी ने आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा कि सपा-बसपा गठबंधन से सिर्फ उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि पूरे देश में संदेश में गया है। अब उत्तर प्रदेश और बिहार की जनता तय करेगी कि केन्द्र में अगली सरकार किसकी बनेगी। राजद उप्र में इस गठबंधन का समर्थन करेगा।

यह भी पढ़ें- जानिए क्या था वह 'गेस्ट हाउस कांड', जिसे बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज फिर किया याद

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें, जबकि बिहार में 40 सीटें हैं। इसके अलावा झारखण्ड की 14 सीटों को भी मिला लें तो यह संख्या 134 हो जाती है। इस वक्त इनमें से भाजपा के पास 115 सीटें हैं। इन राज्यों में गठबंधन होने से भाजपा 100 सीटें हार जाएगी। सपा-बसपा के गठबंधन के जरिये देश को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चंगुल से बचाया जा सकेगा। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि देश की जनता भाजपा से खुश नहीं है। भाजपा ने बिहार को भी छलने की कोशिश की है जबकि खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के लिये विशेष आर्थिक पैकेज का वादा किया था।

साभार: इंटरनेट

उन्होंने कहा कि वह सपा और बसपा को मुबारकबाद देने आये थे, क्योंकि यह गठबंधन उनके पिता (बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद) का सपना था। तेजस्वी ने आरोप लगाया कि देश में इस वक्त अघोषित आपातकाल लागू है। निजी हित साधने के लिये सभी संवैधानिक संस्थाओं को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। इसके अलावा देश के संविधान की जगह संघ नेता एम.एस. गोलवलकर के विचारों और 'नागपुर के कानून' को लागू करने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें महज 13 साल की उम्र से ही अपने परिवार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना करना पड़ा। मगर इससे समझौता करने के बजाय इसका मुकाबला करने की जरूरत है। चुनाव के बाद सभी को पता चल जाएगा कि कौन बेईमान है और चैकीदार ने किस तरह लोगों को बहलाया -फुसलाया और सिर्फ जुमलेबाजी की। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि राजद का समर्थन मिलने से सपा-बसपा का गठबंधन और मजबूत होगा।

यह भी पढ़ें- मायावती को पीएम बनाने पर अखिलेश ने कहा- मैं भी चाहता हूं, प्रधानमंत्री यूपी से ही हो

देश की जनता भाजपा शासन से त्रस्त है और उसे हटाना चाहती है। दिल्ली से लेकर कोलकाता तक लोग भाजपा का विरोध कर रहे हैं, क्योंकि वह जान गये हैं कि भगवा दल ने उन्हें छला है। राजद नेता तेजस्वी ने उम्मीद जतायी कि उत्तर प्रदेश में बने सपा-बसपा के गठबंधन को बिहार तक वस्तिार मिलेगा और सभी पार्टियां फिरकापरस्त भाजपा को हराने के लिये एकजुट होंगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top