15 अक्टूबर को यूपीटीईटी, दिसंबर में शिक्षक भर्ती, शिक्षामित्रों को 10 हजार मानदेय

15 अक्टूबर को यूपीटीईटी, दिसंबर में शिक्षक भर्ती, शिक्षामित्रों को 10 हजार मानदेयसोमवार को लखनऊ में शिक्षामित्रों के प्रदर्शन के दौरान की तस्वीर।  फोटो : विनय गुप्ता

लखनऊ। शिक्षामित्रों के आंदोलन के बीच उत्तर प्रदेश के शिक्षा विभाग ने 15 अक्टूबर को अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) करवाने के आदेश भी जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही दिसम्बर में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया भी शुरू कर दी की जाएगी।

शिक्षा विभाग के मुताबिक सरकार बेसिक शिक्षा अध्यापक सेवा नियमावली में संशोधन कर शिक्षामित्रों के लिए उम्र सीमा व वेटेज की शर्तों को उदार बनाएगी। अक्टूबर में टीचर एलजिबिलटी टेस्ट (टीईटी) व दिसंबर में शिक्षक भर्ती आयोजित करने का भी फैसला किया गया है। लेकिन शिक्षामित्रों ने सरकारी फॉम्युले को मानने से इनकार कर दिया है। बेसिक शिक्षा के अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह का कहना है कि हम शिक्षामित्रों को भर्ती में मौका देने के लिए कार्रवाई शुरू कर चुके हैं। 15 अक्टूबर को टीईटी करवा रहे हैं और नियमावली में भी संशोधन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। वहीं दिसम्बर में शिक्षक भर्ती करवाई जाएगी।

राज प्रताप सिंह ने बताया कि सहायक अध्यापक पद पर समायोजित हुए शिक्षा मित्र सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से 1 अगस्त 2017 से शिक्षा मित्र के पद पर प्रत्यावर्तित माने जाएंगे। उन्हें 1 अगस्त 2017 से 10,000 रुपये प्रति महीने मानदेय दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें:- मच्छरों से महाभारत : डेंगू, मलेरिया और जेई फैलाने वाले मच्छरों के खिलाफ गांव कनेक्शन फाउंडेशन की मुहिम

1.70 लाख शिक्षामित्र एक अगस्त से पद पर वापस

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का पालन करते हुए सरकार ने समायोजित शिक्षकों को एक अगस्त से शिक्षामित्र के पद पर वापस कर दिया गया है। उन्हें 10 हजार रुपये 11 महीने के लिए मानदेय मिलेगा। उनके लिए यह विकल्प होगा कि वह अपने वर्तमान स्कूल या मूल स्कूल जहां चाहें वहां पद ग्रहण कर सकते हैं। शिक्षामित्रों को प्रति शिक्षण वर्ष 2.5 अंक के हिसाब से मेरिट में वेटेज दिया जाएगा, लेकिन यह 25 अंकों से ज्यादा नहीं होगा।

ये भी पढ़ें:- गाँव की महिलाओं का बढ़ रहा है ब्यूटी पार्लर की तरफ रुझान

अक्टूबर में टीईटी परीक्षा का आयोजन

अक्टूबर में टीईटी आयोजित कर ऐसे सभी शिक्षामित्रों को इसमें शामिल होने का मौका दिया जाएगा। टीईटी के बाद प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापकों के पद पर चयन के लिए विज्ञापन निकाला जाएगा, हालांकि सरकार ने खाली पदों का ब्योरा नहीं दिया है। सूत्रों के मुताबिक 70 हजार से अधिक पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन आ सकता है। इन पदों पर शिक्षामित्रों के अलावा सभी पात्र अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। भर्ती में टीईटी क्वालीफाइंग होगी। भर्ती एकेडमिक आधार पर होगी।

ये भी पढ़ें:- यूपी की ग्रामीण महिलाओं पर गांव कनेक्शन के सर्वे की मीडिया में चर्चा

यूपीटीईटी-2017 की समय सारिणी

  • ऑनलाइन पंजीकरण शुरू होने की तारीख - 25 अगस्त (अपराह्न से)
  • ई-चालान द्वारा आवेदन शुल्क जमा करने की आरंभिक तारीख - 26 अगस्त
  • ऑनलाइन पंजीकरण की अंतिम तारीख - आठ सितंबर (शाम छह बजे तक)
  • निर्धारित माध्यम से आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख - 11 सितंबर
  • ऑनलाइन आवेदन पूर्ण करने की अंतिम तारीख - 13 सितंबर (शाम छह बजे तक)
  • ऑनलाइन आवेदन में की गईं त्रुटियों में संशोधन के लिए आरंभिक तारीख - 15 सितंबर (अपराह्न से)
  • ऑनलाइन आवेदन में की गईं त्रुटियों में नियमानुसार संशोधन की अंतिम तारीख - 19 सितंबर (शाम छह बजे तक)

ऐसे बनेगी मेरिट

  • हाईस्कूल : 10%
  • इंटरमीडिएट : 20%
  • स्नातक : 40%
  • बीटीसी (सैद्धांतिक) : 12,06, 03 (फर्स्ट, सेकंड व थर्ड डिवीजन)
  • बीटीसी (प्रायोगिक) : 12,06, 03 (फर्स्ट, सेकंड व थर्ड डिवीजन)
  • शिक्षामित्र : 2.5 अंक प्रति शिक्षण वर्ष (25 अंक से ज्यादा नहीं)

क्या है मामला

दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने 25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों का सहायक अध्यापक पद पर समायोजन निरस्त कर दिया था। साथ ही सरकार को निर्णय लेने का आदेश दिया था। जिसके क्रम में आज सूबे की योगी सरकार ने कयी महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं।01 अगस्त 2017 से शिक्षामित्र को पद पर प्रत्यावर्तित कर दिया गया। यानी को जो सहायक अध्यापक बन गये थे अब वह वापस शिक्षामित्र बन गये।

ये भी पढ़ें:- मुहिम : महामारी फैला रहे मच्छरों पर ग्रामीणों का हल्लाबोल

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top