यूपी: टास्क फोर्स के जरिए बनाए जाएंगे निराश्रित गोवंश के लिए आश्रय, प्रधानों की होगी जिम्मेदारी

यूपी: टास्क फोर्स के जरिए बनाए जाएंगे निराश्रित गोवंश के लिए आश्रय, प्रधानों की होगी जिम्मेदारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ अनूप चन्द्र पाण्डेय ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि हर जिले में ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न विभागों-ग्राम विकास, राजस्व, पुलिस, पंचायतीराज एवं पशुधन आदि के ग्राम स्तर के कार्मिकों और ग्राम प्रधानों की सक्रिय सहभागिता से टास्क फोर्स बनाकर अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलों को विकसित किया जाये।


उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि निराश्रित पशु शहरों के विभिन्न मार्गों में घूमते हुये नजर न आयें। उन्होंने कहा कि निराश्रित पशुओं के आश्रय स्थल के लिए आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित न होने पर सम्बन्धित जिलों के जिलाधिकारियों की जिम्मेदारी नियत होगी।


यह भी पढ़ें- छुट्टा गोवंशों से संकट में खेती, अब यह किसानों की सबसे बड़ी समस्या Part -1

मुख्य सचिव आज योजना भवन में वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से ग्रामीण और शहरी स्थानीय निकायों में अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलों की स्थापना एवं संचालन के लिए आवश्यक निर्देश दे रहे थे।


उन्होंने कहा कि गोवंश आश्रय स्थलों के अस्थाई निर्माण के लिए नामित कार्यदायी संस्थाओं को निर्धारित अवधि में निर्धारित कार्यों को पूर्ण न कराने की स्थिति पर उन्हें ब्लैक लिस्टेड करने की कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि हर सप्ताह मुख्य सचिव स्तर पर अस्थाई गोवंश स्थलों की स्थापना एवं संचालन की प्रगति की समीक्षा की जायेगी।

यह भी पढ़ें- कमाई का जरिया और पूजनीय गाय सिरदर्द कैसे बन गई ?

डॉ अनूप चन्द्र पाण्डेय ने यह भी निर्देश दिये कि आश्रित पशुओं को निराश्रित पशुओं के रूप में छोड़ने वाले पशु मालिकों को चिन्हित कर उन्हें नियमानुसार नोटिस निर्गत कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये।


Share it
Top