ऐसे निकालें इंटरनेट से खसरा खतौनी

इंटरनेट से भूलेख निकलवाने की सुुविधा की राज्यों में है लेकिन कई लोगों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि ज़मीन के कागजा़त यानि भूलेख हासिल करने की प्रक्रिया अब बहुत आसान हो चुकी है। जानिए कैसे..

ऐसे निकालें इंटरनेट से खसरा खतौनीप्रतीकात्मक तस्वीर

अगर आप को अपनी जमीन से संबंधित कोई कागजात चाहिए, जैसे खतरा खतौनी और नक्शा आदि तो तहसील कचहेरी जाना पड़ता है। लेकिन अगर आप इसमें लगने वाले समय और पैसे को बचाना चाहते हैं तो आपके पास दो विकल्प है।

पहला अपने घर के पास के जनसुविधा केंद्र में जाकर कुछ पैसे देकर इसे निकलवा सकते हैं, दूसरा की आप खुद भी इंटरनेट पर अपने राज्य की राजस्व विभाग संबंधी वेबसाइट पर जाकर खसरा-खतौनी निकाल सकते हैं।

आज कल जमीन की रजिस्ट्री करानी हो या उस पर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना हो, या फिर कोई सरकारी योजना का लाभ लेना हो खसरा-खतौनी जरुरी है। ये जमीन के वो कागज़ हैं जो न सिर्फ कई योजनाओं का लाभ दिलाने में मदद करते हैं बल्कि जमीन पर आप के मालिकाना हक का भी सबूत होती हैं। लेकिन इन्हें लेने के लिए लोगों को अक्सर बहुत परेशान होना पड़ता है।

ये भी पढ़ें: सतावर, एलोवेरा, तुलसी और मेंथा खरीदने वाली कम्पनियों और कारोबारियों के नाम और नंबर

इंटरनेट से भूलेख निकलवाने की सुुविधा की राज्यों में है लेकिन कई लोगों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि ज़मीन के कागजा़त यानि भूलेख हासिल करने की प्रक्रिया अब बहुत आसान हो चुकी है। इंटरनेट पर ही अब ये सारी जानकारियां मौजूद हैं। लोग इस तरह से अपना काफी समय और पैसा बचा सकते हैं, गांव कनेक्शन के देशभर में पढ़े जाने वाले सेक्शन 'बात पते की' में समझिए पूरा तरीका। (ये तरीके नीचे वीडियो में दिया गया है।)

कैसे मिलेगी जानकारी

चरण - 1 : उदाहरण के लिए अगर आपको उत्तर प्रदेश में जमीन से संबंधित कागज चाहिए तो सबसे पहले यूपी सरकार की वेबसाइट भूलेख http://upbhulekh.gov.in/ पर जाएं।

चरण - 2 : वेबसाइट के बाईं तरफ से चौथे ऑप्सन "खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नकल देखें" पर क्लिक करें।

चरण - 3 : फिर आपके सामने एक छोटा से बॉक्स दिखेगा जिसमें आपको बांए तरफ एक छोटे से बॉक्स में दिए गए कोड को दाएं तरफ खाली बॉक्स में भरें। बॉक्स में दिए गए कोड को भरने के बाद 'सबमिट' बटन पर क्लिक करें।

चरण - 4 : अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा जिसमें जिलों के नाम लिखे होंगे। अब आपको कॉलम में दिए गए जिलों में अपने जिले के नाम पर क्लिक करें।

ये भी पढ़ें- खेत उगलेंगे सोना, अगर किसान मान लें 'धरती पुत्र' की ये 5 बातें

चरण - 5 : जिले की सूची के बाद बनी तहसीलों की सूची से अपनी तहसील के नाम पर क्लिक करें।

चरण - 6 : इसके बाद सबसे दाईं ओर बनी सूची में अपने गाँव के नाम पर क्लिक करें और फिर उसके ठीक ऊपर लिखे आगे पर क्लिक करें।

चरण - 7 : अब एक नया पेज खुलेगा। अपनी खसरा खतौनी या खाता संख्या याद हो तो इस पेज पर इनके आगे बने गोलाकार बिंदुओं पर क्लिक करके खोजें पर क्लिक करें, आप चाहें तो अपने नाम से भी अपने भूलेख का खोज सकते हैं। खसरा संख्या और खाता संख्या के लिये दी गई जगह पर लिखने के लिए नीचे दिए गए अंकों वाले बॉक्स पर क्लिक करें और नाम से खोजने के लिये नीचे दिये गये अक्षरों पर क्लिक करके अपना नाम लिखें।

चरण - 8 : आपकी ज़मीन के भूलेख अब आपके सामने हैं। आप इसका प्रिंट आउट भी ले सकते हैं।

नोट : खसरा खतौनी निकालने का यह उदाहरण उत्तर प्रदेश भूलेख के लिए है। ऐसे ही आप भारत के किसी भी राज्य के भूलेख में जाकर अपने जमीन संबंधित कागजात डाउनलोड कर सकते हैं। उदाहरण के लिए नीचे तीन राज्यों का का लिंक है.

हरियाणा से संबंधित जमीन के कागजात के लिए वहां की वेबसाइट हलरिस हरियाणा http://jamabandi.nic.in/land%20records/querylink.aspx पर क्लिक करें..

मध्य प्रदेश में जमीन, नक्शा और दूसरे कागजातों के लिए ये आयुक्त- भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त, मध्य प्रदेश की वेबसाइट https://mpbhulekh.gov.in/Login.do# पर क्लिक करें..

बिहार के लोग जमीन संबंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.. http://164.100.150.10/biharbhumi/

ये भी पढ़ें- किसानों की मदद करेंगे ड्रोन कैमरा , फसलों में रोग-कीट लगने से पहले मिलेगा अलर्ट , देखें वीडियो

जानें ग्राम पंचायत और उसके अधिकार, इस तरह गांव के लोग हटा सकते हैं प्रधान

'डेयरी और पोल्ट्री से कमाना है तो पशुओं के आहार, सेहत और साफ-सफाई का ध्यान रखें'

ये भी पढ़ें- राजस्थान के किसान खेमाराम ने अपने गांव को बना दिया मिनी इजरायल, सालाना 1 करोड़ का टर्नओवर

ये भी पढ़ें- इस मशीन को खेत में लगाने पर आसपास भी नहीं आएंगे नीलगाय-जंगली सुअर जैसे जानवर

अब पढ़िए गांव कनेक्शन की खबरें अंग्रेज़ी में भी

Share it
Share it
Share it
Top