Top

उत्तर प्रदेश, हिमाचल, झारखंड, छत्तीसगढ़ सहित देश के कई राज्यों में बेमौसम बरसात, किसानों की बढ़ी चिंता

बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल बर्बाद होने के खतरे ने किसानों की बढ़ाई चिंता

उत्तर प्रदेश, हिमाचल, झारखंड, छत्तीसगढ़ सहित देश के कई राज्यों में बेमौसम बरसात, किसानों की बढ़ी चिंता

उत्तर प्रदेश, हिमाचल, झारखंड, छत्तीसगढ़ सहित देश के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई है। कई जगहों पर ओलावृष्टि भी हुई है, जिससे किसानों के कई फसलों के बर्बाद होने का खतरा बढ़ा है। इस बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों की माथे की चिंता बढ़ा दी है।

बाराबंकी जिले के गांधीपुर के किसान राजेश यादव को आलू की खेती से इस बार अच्छी उम्मीद थी, कि इस बार अच्छी कमाई हो जाएगी। लेकिन बारिश ने सब पर पानी फेर दिया। पानी में डूबी में आलू की फसल को देखकर वो अपने आंसुओं को नहीं रोक पाए। "इस बार सोचा था कि आलू से कर्ज से छुट्टी मिल जाएगी, लेकिन छुट्टी तो नहीं मिली, लेकिन सिर दर्द बढ़ गया है, लगभग 70 परसेंट फसल चौपट हो गई है। सोचा था क्रेडिट कार्ड का कर्ज चुका दूंगा, लेकिन अब सब बर्बाद हो गया, लग रहा है लागत निकालनी भी मुश्किल हो जाएगी, "राजेश यादव ने बताया।


किसानों के मुताबिक करीब 10 साल बाद खुदाई के वक्त (फरवरी) आलू 900-1000 रुपए कुंतल बिक रहा है। पिछले कई वर्षों से आलू 400-600 रुपए कुंतल के आसपास बना हुआ था। किसानों को लगा रहा था कि इस बार अच्छा फायदा होगा।

बेमौसम बारिश और अचानक ओला पड़ने से किसानों की चिंता भी बढ़ गई है। उन्हें गेहूं, तिलहन और दलहन फसलों बर्बाद होने की आशंका सताने लगी है। इसी तरह राज्य के बाराबंकी, सीतापुर और अन्य जिलों में भी ओले गिरे। बाराबंकी में आलू की अच्छी फसल होती है, लेकिन इस ओलावृष्टि ने आलू किसानो की चिंता बढ़ा दी। किसानों का कहना है कि अगर बारिश और अधिक हुई तो आलू की खेती के साथ-साथ सरसो और दलहनी फसलों को भी नुकसान पहुंचेगा।

तरबूज की फसल में भी पानी भर गया है

उत्तर प्रदेश के अलावा हिमाचल, झारखंड और छत्तीसगढ़ में भी बेमौसम बारिश हुई। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में तेज हवाओं के साथ जमकर बारिश हुई और ओले भी गिरे। इस वजह से रबी की फसलों पर बुरा असर पड़ा है और किसान परेशान हैं। किसानों का कहना है कि चना, मसूर, धनिया करायत एवं गेहूं के फसल खेतों में तैयार हो चुके थे, मगर अचानक बदले मौसम ने मुसीबतें बढ़ा दी।


सोमवार को बड़ी संख्या में जिले के किसान जिलाधिकारी से मिले और फसल खराब होने संबंध में उन्हें जानकारी दी। जिलाधिकारी अनंत तयाल ने आश्वासन दिया कि सर्वे करवा कर किसानों को हुए नुकसान का मुआवजा दिया जाएगा। वहीं झारखंड में भी राजधानी रांची सहित कई जिलों में बारिश और ओले पड़े। ओलावृष्टि से दलहन, तिलहन, हरी सब्जियों और फलों समेत रबी फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। ओलावृष्टि से राज्य के खपरैल मकानों को भी भारी क्षति हुई है।

(खबर अपडेट हो रही है)

यह भी पढ़ें- बारिश और ओलावृष्टि से कई राज्यों में बर्बाद हुई फसल

अब किसानों पर ओलावृष्टि की पड़ी मार, यूपी में किसानों की बर्बाद हुईं फसलें


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.