Top

ये है एक बेहतरीन 'डिटॉक्स चाय'... स्वाद भी और सेहत भी

Deepak AcharyaDeepak Acharya   12 Feb 2020 6:32 AM GMT

स्वाद भी और सेहत भीसदियों से पेड़-पौधों और मनुष्यों के बीच एक अनोखा संबंध रहा है। मनुष्यों द्वारा पेड़-पौधों के तमाम अंगों का इस्तेमाल अनेक तरह के रोगोपचारों में किया जाता है क्योंकि पौधों के हर अंगों में अनेक औषधीय गुण होते हैं। पारंपरिक हर्बल जानकारो की मानी जाए तो हर्बल मेडिसिन का असली खजाना आपकी रसोई में ही होता है। रसोई में रखा मसालों का डिब्बा औषधियों की तिजोरी है। भारतीय रसोई में मसालों के डिब्बे में दालचीनी जरूर पायी जाती है। दालचीनी की छाल का उपयोग सब्जियों, दाल और मांसाहारी पकवानों में बतौर मसाला लाया जाता है लेकिन आपको जानकर आश्चर्य लगेगा कि इसी दालचीनी से एक ऐसी स्वादिष्ट चाय बनायी जा सकती है जो एक बेहतरीन औषधि भी है।

ये भी पढ़ें : कहीं घूमने जा रहे हैं? आजमाएं ये देसी नुस्खे

दालचीनी की छाल से एक जबर्दस्त चाय भी तैयार की जाती है जो ना सिर्फ स्वादिष्ट और जायकेदार होती है बल्कि अनेक रोगों के निवारण और हमारे स्वास्थ्य के बेहतर रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण भी होती है। दालचीनी की चाय बनाने के लिए दालचीनी की छाल के २-३ टुकड़े, स्वादानुसार गुड़, २ इलायची और थोड़ी सी अदरक की आवश्यकता होती है। दुनियाभर के लोग दालचीनी की चाय को 'डिटॉक्स टी" के नाम से जानते हैं क्योंकि इस चाय की खासियत होती है कि यह हमारे शरीर की अंदरूनी साफ-सफाई कर देती है।

इस चाय को तैयार करने के लिए एक पतीले में आधा गिलास पानी लेकर खौलाएं और जब पानी खौलने लगे तो खौलते पानी में दालचीनी की छाल के २-३ टुकड़े डाल दें। इसी वक्त इसमें स्वादानुसार गुड़ भी डाल दें। इसी मिश्रण में इलायची इलायची और कद्दूकस अदरक भी डाल दिया जाए। इस चाय को देर तक खौलने दिया जाए, जब खौलती चाय में जब भाप बनने लगे तो इसे किसी बर्तन या प्लेट से ढाँक दें। ऐसा इसलिए किया जाना चाहिए ताकि दालचीनी में पाया जाने वाला वाष्पशील तेल चाय में उतर आए। कुछ ही समय में दालचीनी की चाय तैयार हो जाएगी। इसे छानें और मजे से पिएं।

ये भी पढ़ें : आपकी रसोई में है एक कमाल की औषधि

दालचीनी की चाय बनते ही पूरे घर में दालचीनी की सौंधी खुश्बु समा जाएगी। जानकारों के अनुसार डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल और आर्थराइटिस को बेहतर तरीके से नियंत्रित करने के लिए इस चाय को नित्य लेना चाहिए। अनेक वैज्ञानिक शोध पत्रों में इसके असर का जिक्र किया गया है। बगैर गुड़ वाली दालचीनी चाय डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद साबित होती है। जिन्हें मानसिक तनाव, नींद ना आना और थकान जैसी समस्याएं परेशान कर रही हैं, उनके लिए भी यह चाय काफी खास है। दालचीनी के औषधीय गुणों की पैरवी आधुनिक विज्ञान खूब करता है। कुलमिलाकर कहा जा सकता है दालचीनी एक कमाल की औषधि है।

इसी तरह की नयी जानकारियों, नए हर्बल टिप्स जानने के लिए हमारा शो "हर्बल आचार्य" देखते रहें और नए एपिसोड्स की सूचना के लिए "गाँव कनेक्शन" टी.वी का यूट्यूब चैनल भी सब्सक्राइब करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.