अच्छी ख़बर : कैंसर और दिल की दवाएं 50 से 90 प्रतिशत तक मिलेंगी सस्ती

अच्छी ख़बर : कैंसर और दिल की दवाएं 50 से 90 प्रतिशत तक मिलेंगी सस्तीगाँव कनेक्शन 

गाँव कनेक्शन/स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। मरीजों और उनके परिजनों के लिए अच्छी ख़बर है। लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज में मरीजों को सस्ती दवाएं मिलेंगी। कैंसर और दिल के रोगों की दवाएं भी 50 से 90 फीसदी तक सस्ती मिलेंगी। यहां पर दो अमृत फार्मेसी खुल गई हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग इनका उद्दाटन किया।

कैंसर व कार्डियो वैस्कुलर और अन्य रोगों से ग्रसित मरीजों को कम दरों पर औषधि और अन्य सर्जिकल उत्पादों को उपलब्ध कराने के लिएभारत सरकार के केंद्रीय स्वाथ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा इस अमृत फार्मेसी का शुभारम्भ किया गया है।

इस अवसर पर जेपी नड्डा ने कहा, “इस फार्मेसी में कैंसर की 164 दवाओं, कार्डियक की 191 दवाओं समेत कुल मिलाकर 5200 दवाएं 50 से90 प्रतिशत तक कम दरों पर उपलब्ध हैं।“ आगे कहा, “इस फार्मेसी में जिस स्टॅण्ट की कीमत 1 लाख थी, उसे हम 12000 मे उपलब्ध करा रहेहैं। घुटने को ट्रांसप्लांट करने में लगने वाले 2.5 लाख के टाइटेनियम घुटने को हम 65 हजार में उपलब्ध करा रहे हैं।“

इंटरव्यू: केजीएमयू में डॉक्टरों से लेकर गार्ड तक का बदलेगा रवैया, वीसी ने बनाई है खास़ रणनीति

केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, “हम दुनिया के फार्मेसी उत्पाद बानने वाले में तीसरे स्थान पर है, किन्तु हमारी अपनी फार्मेसी की दशा काफीचिंताजनक है। अमृत फार्मेसी की श्रृंखला में अब तक कुल 84 फार्मेसियों को देश के अलग-अलग चिकित्सालयों में स्थापित किया जा चुका है,जिसकी संख्या अब बढ़कर कुल 100 हो जायेंगी।“

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के समस्त चिकित्सालयों को उच्च कोटि की गुणवत्ता वाली जेनरिक दवायें उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे, उसकेअनुपालन में यह अनुबंध चिकित्सा विश्वविद्यालय द्वारा किया गया है। उत्तर प्रदेश में अमृत फार्मेसी का यह सरकारी उपक्रमों मे पहला प्रयोगहोगा। एम्स जैसी संस्थाओं मे यह फार्मेसी पहले से ही कार्यरत है।

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कलाम सेंटर में प्रदेश सरकार के चिकित्सा शिक्षा एवं प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन, अपरमुख्य सचिव एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा, डॉ अनिता भटनागर जैन, संस्थान के कुलपति प्रो. मदनलाल ब्रह्म भट्ट, सीएमएस सहितचिकित्सा विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष और संकाय सदस्यों के साथ एमबीबीएस के छात्र उपस्थित रहे।

इसलिए फायदेमंद होगी फार्मेसी

उक्त फार्मेसी में कैंसर तथा अन्य गंभीर रोगों की औषधि बहुत ही कम दरों पर उपलब्ध हो सकेगी। वर्तमान में देश के 17 राज्यों तथा केन्द्रशासित प्रदेशों में कुल 84 अमृत फर्मेसी कार्य कर रही हैं। उक्त फार्मेसी में 164 कैंसर की दवाये तथा 191 कार्डियो वैस्कुलर दवायें, 360 प्रकार केकार्डियक और आर्थो इम्प्लांट्स सहित 5200 दवायें तथा सर्जिकल उत्पाद उपलब्ध होगें।

केजीएमयू बनेगा सबसे अधिक वेंटिलेटर वाला अस्पताल

Share it
Top