एटा में सौ दिन में बदले 760 ट्रांसफार्मर  

एटा में सौ दिन में बदले 760 ट्रांसफार्मर  मारहरा में खुले में रखा विद्युत ट्रांसफार्मर।

मोहम्मद आमिल, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

एटा। जनपद में योगी सरकार के 100 दिन के कार्यकाल में विद्युत आपूर्ति सही रही। शहर, कस्बों व देहात क्षेत्रों में रोस्टर के मुताबिक बिजली आपूर्ति दी जा रही है। विद्युत उपकरणों के बदलने की तो शहर व कस्बाई क्षेत्रों में विद्युत उपकरण बदलने में दो से तीन दिन लग रहे हैं, लेकिन ग्रामीण इलाकों में काफी शिकायतों के बाद भी विद्युत उपकरण नहीं बदले जाते। विभागीय रिपोर्ट के मुताबिक, 100 दिन में तकरीबन 760 विद्युत ट्रांसफार्मर बदले जा चुके हैं।

पिछले एक पखवाड़े को छोड़ दिया जाए तो जनपद के निधौलीकलां, मारहरा, अलीगंज, जैथरा, जलेसर, शीतलपुर, सकीट व अवागढ़ ब्लॉक में विद्युत सप्लाई 16 से 18 घंटे मिल रही है। जलेसर ब्लॉक ताज एरिया में होने के कारण यहां बिजली का रोस्टर 20 से 22 घंटे का है।

ये भी पढ़ें-विद्यालय के गेट पर खुले में रखा ट्रांसफार्मर, कभी भी हो सकता है हादसा

जलेसर निवासी अजय प्रताप (38 वर्ष) का कहना है, ‘‘ताज एरिया में होने के कारण जलेसर में बिजली की समस्या कम रहती है। यहां पहले भी 20 से 22 घंटे बिजली मिला करती थी।” वहीं अलीगंज में विद्युत सप्लाई 18 से 20 घंटे मिल रही है। आंधी व बारिश के दौरान बिजली आपूर्ति में गड़बड़ी हो जाती है।

अलीगंज निवासी रानू चौहान (28 वर्ष) कहते हैं, ‘‘योगी सरकार के 100 दिनों में अलीगंज में बिजली की सप्लाई अच्छी मिली हैं, 18 से 20 घंटे बिजली मिल रही है।” शीतलपुर ब्लॉक के समसपुर गाँव में पिछले कई रोज से विद्युत ट्रांसफार्मर फुंके हुए हैं, लेकिन वह अभी तक नहीं बदले गए। गाँव के इनाम सिंह (55 वर्ष) कहते हैं, ‘‘कई बार विद्युत अधिकारियों से शिकायत की लेकिन ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया।”

विद्युत विभाग के एसडीओ आदित्य पांडे ने बताया जो भी शिकायतें विद्युत उपकरण की मिलती हैं, उनका 48 घंटें में समाधान करा दिया जाता है, रोस्टर के मुताबिक बिजली आपूर्ति दी जा रही है।

अलीगंज के जेई अमित गुप्ता ने बताया अलीगंज क्षेत्र में 100 दिन में शिकायत के बाद 30 ट्रांसफार्मर बदले जा चुके हैं, शिकायत मिलने के बाद 48 घंटे में विद्युत उपकरण सही करा दिए जाते हैं, सबसे अधिक शिकायतें सरकारी टयूबवेल की रहती हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top