छात्राएं बोलीं- योगी जी, अब एंटी रोमियो स्क्वॉड नहीं दिखती

छात्राएं बोलीं- योगी जी,  अब एंटी रोमियो स्क्वॉड नहीं दिखतीफोटो

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

पीलीभीत।महिलाओं-बेटियों खासकर स्कूली छात्राओं की सुरक्षा को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता संभालते ही पूरे प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया था। पीलीभीत जनपद में भी टीम गठित कर मनचलों पर शिकंजा कसने का फरमान जारी कर दिया गया था।

शुरुआत के कुछ दिनों तक तो इसको लेकर पुलिस काफी सक्रिय दिखाई दी। इसमें चेकिंग कर महिला कॉलेजों के आस-पास खड़े संदिग्धों को पकड़ा भी गया। हालांकि उन पर कानूनी कार्रवाई नहीं हुई लेकिन कुछ दिनों बाद ही यह दस्ता भी जिले में बेदम होता चला गया। इसको लेकर न तो अब अफसर सक्रिय दिखाई दे रहे हैं, न ही मातहत। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इस एंटी रोमियो स्क्वायड दस्ते में शामिल पुलिसकर्मी खुद अब तक हुई कार्रवाई नहीं बता पा रहे हैं।

ये भी पढ़ें- अत्याधुनिक उपकरण से लैस होगी एंटी रोमियो स्क्वायड टीम

पिछले दिनों पीलीभीत में हुई इन घटनाओं ने खोली हकीकत

केस-1

पुलिस बंदोबस्त को लेकर कितना डर शोहदों में है, इसकी हकीकत तीन महीने पूर्व शहर के मेन मार्केट से सटे इलाके में चल रही रॉक जिम के बाहर हुई वारदात से सामने आ गई। दोपहर तीन बजे जिम के गेट पर एक मनचले ने न सिर्फ छात्रा को रोका, बल्कि भीड़ के बीच उसकी जमकर पिटाई भी की। हालांकि सीसीटीवी कैमरे में वीडियो वायरल होने के बाद उसको सुनगढ़ी थाने में मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा गया।

केस-2

छेड़छाड़ का दूसरा मामला भी सुनगढ़ी थानाक्षेत्र में ही सामने आया। जहां एक युवती को तीन शोहदों ने पकड़ कर छेड़छाड़ की, इसके बाद किशोरी के विरोध करने पर उसको जहर पिला दिया गया। कई दिन तक किशोरी का जिला अस्पताल में इलाज चला। इस मामले को भी पहले पुलिस संदिग्ध बताती रही, बाद में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को जेल भेजा गया।

ये भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी का एंटी रोमियो दस्ते बनाने का फैसला बेहद लोकप्रिय रहा : सर्वे

ऐसा नहीं लगता कि मुख्यमंत्री की सख्ती का कोई असर सड़कों पर है। छेड़छाड़ करने वालों पर पुलिस को सख्ती करनी चाहिए। यह सब बयानबाजी तक ही सीमित दिख रहा है।
गुलनिशा, बीए छात्रा, उपाधि महाविद्यालय, पीलीभीत

प्रतिदिन सुबह और शाम को स्कूल, कॉलेज के बाहर टीम ले जाकर चेकिंग की जाती है। कुछ लोगों पर रिपोर्ट भी दर्ज की गई। अन्य कार्यक्रमों में ड्यूटी की व्यस्तता होने का कुछ असर पड़ता है। हमारी कार्रवाई लगातार जारी है।
अनुपम सिंह, एंटी रोमियो स्क्वायड प्रभारी, पीलीभीत

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top