Menstrual Hygiene Day : कानपुर देहात की महिलाओं ने जाने उन दिनों में स्वच्छ रहने के तरीके 

Menstrual Hygiene Day : कानपुर देहात की महिलाओं ने जाने उन दिनों में स्वच्छ रहने के तरीके विश्व माहवारी दिवस पर कानपुर देहात में आयोजित कार्यक्रम में शामिल महिलाएं।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कानपुर देहात। मेरे पेट में माहवारी के दौरान कई बार पेट में सूजन आ जाती है, जिससे मुझे बहुत दर्द होता मुझे नहीं पता कि डॉक्टर को दिखाना चाहिए कई बार बताने में भी घर वालों ने भी ध्यान नहीं दिया और इस दर्द को में छह साल से सहती रही। ये बात अट्ठारह वर्षीय दिव्या ने कही। हालांकि ये समस्या दिव्या जैसी सैकड़ों लड़कियों की हैं। कानपुर देहात जिला मुख्यालय से 16 किमी. दूर सरवनखेड़ा ब्लॉक के सभागार में गाँव कनेक्शन फाउंडेशन द्वारा आयोजित माहवारी स्वच्छता दिवस में 21 गाँव की महिलाओं और किशोरियों ने हिस्सा लिया।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

कार्यक्रम में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गजनेर से डॉ. प्रीती सिंह मेडिकल ऑफिसर ने बताया, “किशोरियो को कई बार नौ साल कि उम्र में अगर जल्दी माहवारी शुरू होती है, अगर कम उम्र में दर्द होता गर्म पानी से सिकाई करनी चाहिए और कई बार कई कई महीनों माहवारी नहीं होती है तो घबराने कि जरूरत नहीं है कई लड़कियों के साथ ऐसा अक्सर होता है।

संबंधित खबरें : माहवारी के असहास की कहानी, खुद महिलाओं की जुबानी

अलका (45 वर्ष) ने महिलाओं को बताया, “एक महिला तीन दिन से एक कपड़े का इस्तेमाल किया जिससे उसके पेट में बहुत दर्द हो रहा था। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घाटमपुर में डॉक्टर नीलम सचान ने उस महिला को देखा तो तब डॉक्टर ने बताया कि बहुत तेज बदबू आ रही थी पूरा कमरा बदबू से भर गया तब डॉक्टर ने कहा इसी से महिलाओं और किशोरियों के पेट में दर्द और सफ़ेद पानी आता है, जिससे बच्चे दानी में सूजन आ जाती है बहुत सी बिमारिया गंदगी के कारण फैलता है।

ये भी पढ़ें : Menstrual Hygiene Day : गाँव कनेक्शन की मुहिम, गाँव-गाँव में हो रही ‘उन दिनों’ पर बात

ग्रामीण विकास एवं शोध संस्थान के सहयोगी बदनसिंह महिलाओं को बताते हैं, "आज ये विश्व माहवारी दिवस कि बाते इस सभागार में 21 गाँव कि 200 से ऊपर बैठी महिलाएं इस ज्ञान को अपने गाँव में सभी महिलाओं व बालिकाओं को इस विषय पर शिक्षित करें जिससे महिलाये होने वाले संक्रमणों से बच सकें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी केके श्रीवास्तव ने विश्व माहवारी दिवस में सभी महिलाओं के लिए सेनिटरी नैपकिन उपलब्ध करायी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top