केंद्र की योजनाओं से दूर कानपुर का एक गांव, ग्रामीण खुले में शौच जाने के लिए मजबूर

Shubham MishraShubham Mishra   10 July 2017 7:57 PM GMT

केंद्र की योजनाओं से दूर कानपुर का एक गांव, ग्रामीण खुले में शौच जाने के लिए मजबूरचंद्रपुरा ग्राम पंचायत में केंद्र की योजना के तहत नहीं बना एक भी शौचालय।

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कानपुर। जिला मुख्यालय से करीब 60 किमी दूर ककवन ब्लॉक के चंद्रपुरा ग्राम पंचायत में केन्द्र की योजनाएं अभी भी नहीं पहुंच पा रही हैं। यह पंचायत अभी भी शौचालय और उज्ज्वला योजना जैसे महत्वपूर्ण योजनाओं के लाभ से वंचित है। चंद्रपुरा गाँव निवासी राहुल दुबे (38वर्ष) का कहना है, ''हमारी ग्राम पंचायत में कोई काम नहीं हुआ। एक तरफ हमारे प्रधानमंत्री मोदी स्वच्छता के लिए गाँव-गाँव शौचालय दे रहे हैं और यह हर जगह बन भी गई है। लेकिन उनके गाँव में कुछ नहीं हुआ सभी लोग अभी भी खुले में शौच जाने के लिए विवश हैं।''

ये भी पढ़ें : गाँव में खुले में शौच जाना, यानी बीमारी घर लाना

इसी गाँव के शिवनंदन सिंह (26वर्ष) का कहना है, ''हमारे गाँव को अभी तक केंद्र की किसी भी योजना का लाभ नहीं मिला। चाहे स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण हो या उज्जवला योजना या फिर आवास योजना। इस संबंध में जब भी ग्राम प्रधान से कहा जाता है, वो लिस्ट भेज दिए जाने की ही बात कहता है। गांव की महिलाएं ऐसी बरसात में भी शौच के लिए बाहर जाने को मजबूर हैं।''

इस बारे में प्रधान प्रतिनिधि रामपाल दोहरे (42वर्ष) कहते हैं, ''हम लिस्ट बनाकर भेज चुके। शौचालय एक भी नहीं बना है। ब्लॉक से कई बार सुबह स्वच्छ भारत मिशन के कार्यकर्ता आते हैं और फोटो खींचकर मना कर जाते हैं कि कोई बाहर शौच के लिए न जाना।'' वहीं, बीडीओ एमएल वर्मा का कहना है कि 'हम लोग लगे हुए हैं कि गाँव में शौचालय बने व जल्द ही यह ओडीएफ हो जाये।'

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top