योगी ने बनारस दौरे में प्रधानों को स्वच्छता के प्रति दिलाई शपथ 

Vinod SharmaVinod Sharma   2 Jun 2017 2:34 PM GMT

योगी ने बनारस दौरे में प्रधानों को स्वच्छता के प्रति दिलाई शपथ योगी शनिवार को बीएचयू के स्वतंत्रता भवन में पूर्वांचल के ग्राम प्रधानों को संबोधित कर रहे थे।

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गंगा, यमुना सहित अन्य सभी नदियों की स्वच्छता केवल सरकार के सहारे संभव नहीं है। इसके लिए सामूहिक सहभागिता की जरूरत है। साथ ही चेताया भी कि इनकी रक्षा नहीं होगी तो यूपी रेगिस्तान बन जाएगा। योगी शनिवार को बीएचयू के स्वतंत्रता भवन में पूर्वांचल के ग्राम प्रधानों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने ग्राम प्रधानों को गंगा सफाई की शपथ भी दिलाई।

उन्होंने कहा, “मां गंगा हमारे भारतीय संस्कृति की माता कही जाती हैं। इनके किनारे अनेक तीर्थस्थल हैं। गंगा को स्वच्छ रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। स्वच्छता हमारी पहचान होनी चाहिए। अगर गंगा हमारी मां है तो उसके आंचल को गंदा न करने का संकल्प हमें ही लेना चाहिए।” सीएम योगी ने खुले में शौच पर चिंता जताते हुए कहा, “खुले में शौच के कारण बच्चों की मौत हो रही है। स्वच्छ भारत अभियान की राह में खुले में शौच सबसे बड़ा रोड़ा।” सीएम योगी ने कहा कि 75 जिलों को अक्टूबर 2018 तक ओडीएफ घोषित करना है। उन्होंने 25 ग्राम प्रधानों को सम्मानित किया।

ये भी पढ़ें- स्वच्छता और सेहत बनाए रखने के दस सूत्र

वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में विकास कार्यों और सरकारी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सबसे पहले शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय पहुंचे, जहां उन्होंने मरीजों का हाल जाना। हर बेड पर भर्ती मरीजों को देख चिकित्सा व्यवस्था की प्रशंसा की।

इसके बाद योगी ने शहर में बन रहे 7787.48 लाख की लागत से 1784 मीटर लम्बे निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर एवं 1782.00 लाख की लागत से 652 मीटर लम्बे मंडुवाडीह फ्लाईओवर का निरीक्षण किया। उन्होंने युद्धस्तर पर अभियान चलाकर दोनों फ्लाईओवरों को निर्धारित समय में पूरा कराए जाने का निर्देश दिया।

उन्होंने बीएचयू के प्रवेश द्वार के सामने रामनगर (सामनेघाट) मार्ग पर गंगा नदी पर 923.95 मीटर लम्बे निमार्णाधीन सेतु के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया और सेतु निगम के अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि प्रत्येक दशा में इस सेतु का कार्य 27 जून तक पूर्ण किया जाए। उन्होंने मौके पर मौजूद विभागीय अभियंताओं को गुणवत्ता के साथ कार्य कराए जाने की हिदायत दी।

मुख्यमंत्री ने दुर्गाकुंड एवं शंकुलधारा तालाब का भी निरीक्षण किया। उन्होंने तय समय-सीमा में कार्य पूर्ण न होने पर इसमें और तेजी लाकर तुरंत पूरा कराने का निर्देश देते हुए कहा कि तालाब की खोदाई के दौरान इतनी अधिक खोदाई भी न कर दिया जाए, जिससे तालाब का पानी तलहटी में ही रह जाए।

ये भी पढ़ें- मजरा सद्दुपुर गाँव की महिलाएं हुईं स्वच्छता के प्रति जागरूक

उन्होंने तालाब के किनारे-किनारे पाथवे और लाइटिंग कराए जाने का भी निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, होमगार्ड राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिल राजभर, राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी, कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण, आईजी दीपक रतन, जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र, एसएसपी नितिन तिवारी सहित अन्य अधिकारी व राजनेता उपस्थित रहे।

मोदी की काशी में योगी का विरोध

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में सीएम योगी के पहले आगमन को लेकर पार्टी से लेकर पुलिस-प्रशासन की तैयारियां धरी रह गईं। शनिवार को बीएचयू गेट पर सहारनपुर में जातीय हिंसा के विरोध में भरत सिंह छात्र मोर्चा से जुड़े लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किया। पुलिस ने आनन-फानन में प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर पुलिस लाइंस भेज दिया, लेकिन इसके बाद छात्रों ने लंका थाने का घेराव कर नारेबाजी शुरू कर दी। उधर, पीएम के रवीन्द्रपुरी स्थित संसदीय कार्यालय में सीएम के सामने बेरोजगार छात्रों ने नारेबाजी की। सीएम ने अपने मंत्रियों को भेज उनकी समस्याएं सुनीं और उसके उचित निस्तारण का भरोसा दिलाया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top