गोरखपुर: रौशन होंगे वनटांगिया और मुसहर जनजाति गाँव 

Jitendra TiwariJitendra Tiwari   2 July 2017 1:27 PM GMT

गोरखपुर: रौशन होंगे वनटांगिया और मुसहर जनजाति गाँव प्रतीकात्मक तस्वीर

जितेंद्र तिवारी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोरखपुर। पूर्वांचल के वनटांगिया और मुसहर गाँव शीघ्र ही बिजली से रौशन हो जाएंगे। बीते कई दशकों से विभिन्न सुविधाओं से वंचित यहां के नागरिकों को सभी बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने में प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है।

इसी कड़ी में बिजली विभाग की ओर से इन गाँवों को रौशन करने के लिए पंडित दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत विद्युतिकरण कराने की पूरी कार्य योजना तैयार की जा चुकी है। अधिकारियों के मुताबिक विभाग की ओर से पूरा ब्यौरा तैयार कर शासन को भेज दिया गया है, वहां से जैसे ही स्वीकृति मिलेगी, कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

दरअसल, जिले के जंगल तिनकोनिया नंबर तीन, जंगल रामगढ़ रजही, रजही खाले, रजहीं आमबाग और जंगल चिलबिलवा में मुसहर समाज की आबादी ज्यादा है, लेकिन यहां सड़क, बिजली, पेयजल, स्कूल, चिकित्सालय, सिंचाई के साधन, आंगनवाड़ी केंद्र आदि बुनियादी सुविधाओं का आभाव है। इसी प्रकार जिले के ब्रह्मपुर व खोराबार ब्लॉक के अलावा कुशीनगर और देवरिया जिले में भी मुसहर आबादी है।

ये भी पढ़ें- भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान नहीं रहेगा बिजली पर निर्भर, सौर ऊर्जा से बनेगी बिजली

बदहाली का दंश झेल रहे पूर्वांचल के मुसहर व वनटांगिया गाँव समाज के लोगों को योगी सरकार से काफी उम्मीदें हैं। अब सरकार प्रशासनिक अमला इन गाँवों का विकास करने का प्लान तैयार कर रहा है, ताकि यहां पर जरूरत की वे सभी सुविधाएं मुहैया हो, जो अन्य गाँवों के लोगों को लंबे समय से मिलती आ रही हैं।

उन्हीं की बराबरी में खड़ा करने के लिए प्रशासन इन गाँवों के विकास के लिए प्रयासरत है। प्रशासन के विकास कार्य से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी इन गाँवों का दौरा कर चुके हैं। योगी सरकार की प्राथमिकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते 26 मई को जेई टीकाकरण अभियान की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुशीनगर जिले के अत्यंत पिछड़े गाँव मैनपुर से की थी। मुख्यमंत्री ने इस अभियान की शुरुआत कर मुसहर व वनटांगिया गाँव के विकास की प्राथमिकता पर जोर दिया।

चरगांवां ब्लॉक के जंगल तिनकोनिया नंबर-तीन के रहने वाले राम गनेश गौंड़ (उम्र 45 वर्ष) ने बताया, “पीढ़ी दर पीढ़ी गुजरती चली गई, पर कोई खास बदलाव नजर नहीं आया। बिजली की रोशनी दूर के गाँवों में या शहर में देखते आ रहा हूं। अब कुछ आस जगी है।”चरगांवां ब्लॉक के रजहीं खाले टोला निवासी बलराम राजभर (उम्र 42 वर्ष) ने बताया, “प्रशासनिक अधिकारी गाँव का लगातार दौरा कर रहे हैं। विकास से जुड़े विभिन्न विभागों का सर्वे भी हो रहा है। बिजली आ जाए तो अच्छी बात होगी।”

ये भी पढ़ें- खेती से हर दिन कैसे कमाएं मुनाफा, ऑस्ट्रेलिया से लौटी इस महिला किसान से समझिए

चरगांवां ब्लॉक के जंगल रामगढ़ निवासी नान्हू पासवान (उम्र 65 वर्ष) ने बताया, “सुना है कि अब गाँव में बिजली आ जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कुछ आस जगी है।”पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के मुख्य अभियंता एके सिंह ने बताया मुसहर और वनटांगिया गाँवों में विद्युतिकरण की पूरी कार्ययोजना तैयार कर फाइल शासन को भेजी जा चुकी है। वहां से हरी झंडी मिलते ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा। इन गाँवों में पं. दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत ही विद्युतिकरण का कार्य होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top