बागपत जिले के सैकड़ों किसानों ने आत्मदाह की दी चेतावनी

बागपत जिले के सैकड़ों किसानों ने आत्मदाह की दी चेतावनीगाँव में हो रही चकबंदी खत्म करवाने को लेकर इकठ्ठा हुए किसान

बागपत । बागपत जिले के रंछाड गाँव में चकबन्दी की वजह से किसान परेशान हैं। चकबन्दी अधिकारियों ने भूमाफियाओं से मिलीभगत कर किसानों को भूमि हीन कर दिया। ऐसे में किसान आक्रोशित हैं। किसानों ने अपनी मांग को लेकर डीएम आवास पर हंगामा किया और मांग पूरी नहीं होने पर 100 किसानों ने आत्मदाह की चेतावनी दी है। डीएम बागपत ने मामले को लेकर जांच बैठा दी है।

जिले के बिनोली थाना क्षेत्र के रंछाड गाँव में पिछले कई सालों से चकबन्दी चल रही है और चकबन्दी अधिकारीयो ने किसानों की भूमि पर घपवा किया जा रहा है, जिसके चलते गाँव में किसानों में आपस मे कई बार खूनी संघर्ष भी हो चुका है और कई लोगो की हत्या भी हो चुकी है।

ये भी पढ़ें- दाल का उत्पादन बढ़ाने के लिए खुलेंगे सीड हब

रंछाड गाँव के किसान कुंवरपाल सिंह ( 61 वर्ष) ने बताया,'' हम सब किसानों को तो भूमिहीन ही कर दिया, जिसके चलते गाँव में पंचायत बैठेगी और जो निर्णय लिया जाएगा उसे हम सब किसानों को मंजूर होगा ।''

डीएम कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते किसान

ग्रामीणों के अनुसार 10 वर्ष पहले गाँव में चकबन्दी को रोक दिया गया,लेकिन पिछले वर्ष फिर से गांव में चकबन्दी प्रक्रिया शुरू कर दी गई। इससे सैकड़ों किसानों की जमीन को तालाबों व कृष्णा नदी में भी दर्शा दिया गया है। गुस्साए हुए किसानों ने डीएम आवास पहुंचकर अपनी मांगों को लेकर हंगामा किया है। उनकी मांग है कि गांव में चकबन्दी को रोका जाए, सीमांकन कराया जाए , कब्जा परिवर्तन रोका जाए।

ये भी पढ़ें- इनसे सीखिए... कैसे बिना मिट्टी के भी उगाए जा सकते हैं फल और सब्ज़ियां
इस मामले के बारे में डीएम बागपत भवानी सिंह खंगारौत ने बताया,'' किसानों का मुददा गंभीर है पहले भी इस गाँव के किसान आए थें। मामले को लेकर चकबन्दी विभाग की मीटिंग बुलाई गई है और जांच कराई जाएगी। दोषियों पर सख्त से सख्त कार्यवाई की जाएगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top