जौनपुर : कर्ज़माफी के लिए टीम का हुआ गठन, जल्द मिलेगा किसानों को लाभ

जौनपुर : कर्ज़माफी के लिए टीम का हुआ गठन, जल्द मिलेगा किसानों को लाभकर्ज़माफी के लिए टीम का हुआ गठन, जल्द मिलेगा किसानों को लाभ

स्वयं प्रोजेक्ट

जौनपुर। 31 मार्च 2016 से पहले कर्ज लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। उनके कर्ज को माफ करने के लिए जिलास्तरीय टीम का गठन हो गया है। टीम की कमान जिलाधिकारी के हाथों में है। इसके अलावा अन्य अधिकारी भी शामिल हैं।

वहीं भाजपा सरकार ने यूपी विधानसभा चुनाव के पहले अपने घोषणापत्र में किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही थी। चुनाव जीतने के बाद कैबिनेट मीटिंग में योगी सरकार ने किसानों का ऋण माफ करने का ऐलान किया। हालांकि कर्ज माफी का लाभ उन्हीं किसानों को मिलना है, जिन्होंने 31 मार्च 2016 से पहले ऋण लिया है।

ये भी पढ़ें- नेताओं को जवाब देने पर इन अधिकारियों को मिली ‘सजा’, लेकिन जनता ने बनाया हीरो

सीडीओ शीतला प्रसाद ने बताया, “प्रदेश सरकार ने लघु एवं सीमांत किसानों के उन्नयन व सतत विकास के लिए फसली ऋण मोचन योजना लागू की है। इसके तहत 31 मार्च 2016 से पहले ऋण लेने वाले लघु एवं सीमांत किसानों का एक लाख तक का फसली ऋण सरकार माफ करेगी।” उन्होंने बताया, “इस योजना का लाभ पाने में उन किसानों को दिक्कत आ सकती है, जिनका अभी तक आधार कार्ड नहीं बना है।

वहीं जिन कृषकों का आधार कार्ड बन गया है और उन्होंने बैंक खाता अपने आधार से लिंक नहीं करावाया है तो उन्हें भी योजना का लाभ लेने में असुविधा हो सकती है।” जिन किसानों ने आधार कार्ड नहीं बनवाया है वह तुरंत आधार कार्ड बनवा लें और जिन किसानों ने अपना खाता आधार से लिंक नहीं कराया है वह भी तुरंत करवा लें। ऐसा न हो पाने की स्थिति में उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर किसानों के लिए एक अच्छी खबर है।

ये भी पढ़ें- एक महिला इंजीनियर किसानों को सिखा रही है बिना खर्च किए कैसे करें खेती से कमाई

किसानों के कर्ज माफ के लिए जिलास्तरीय कमेटी का गठन हो गया है। इस कमेटी के अध्यक्ष जिलाधिकारी, सचिव सीडीओ और जिला कृषि अधिकारी सह सचिव होंगे। जबकि डीडी एग्रीकल्चर, गन्ना अधिकारी, उद्यान अधिकारी वह सभी बैंक के जिला समन्वयक सदस्य होंगे। उप निदेशक कृषि अशोक कुमार उपाध्याय कहते हैं, “किसानों के कर्ज माफी के लिए जिला स्तरीय टीम का गठन हो गया है। इसके अध्यक्ष डीएम व अन्य सदस्य भी हैं।”

जिलाध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन आरएन यादव ने बताया कि किसानों को बताया जा रहा है कि वह अपने बैंक खाते को आधार से लिंक करवा लें। वहीं जिनका आधार कार्ड नहीं बना है। उनका भी बनवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top