मैंगो एक्सपोर्ट सेल की मदद से आई प्रदेश से आम निर्यात में तेज़ी

मैंगो एक्सपोर्ट सेल की मदद से आई प्रदेश से आम निर्यात में तेज़ीकिसानों से आम सीधे तौर पर खरीद कर विदेशों तक भेजा जा रहा है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ।यूपी के आम को दूसरे राज्यों व इसके व्यापार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने के लिए राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद व्दारा शुरू किए गए मैंगो एक्सपोर्ट सेल की मदद ली जा रही है।यह खास इकाई न सिर्फ आम के विपणन पर केंद्रित है बल्कि इसकी मदद से आम की खेती कर रहे किसानों से आम सीधे तौर पर खरीद कर विदेशों तक भेजा जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में मुख्य रूप से उगाई जाने वाली दशहरी,चौंसा, लंगड़ा, सफेदा और अल्फांसो आमों की किस्मों को देश के विभिन्न हिस्सों सहित विदेशी निर्यातकों तक पहुंचाने के बनाई गई मैंगो एक्सपोर्ट सेल के प्रबंधक सतीश सिंह बताते हैं,'' मैंगो एक्सपोर्ट सेल का मुख्य उद्देश्य है प्रदेश में स्थापित किए मैंगो पैक हाउसों से गुणवत्तायुक्त आमों को विदेशों तक आसानी से पहुंचाया जा सके। इसकी मदद से हम विदेशों के निर्यातकों से सीधा व्यापार कर रहे हैं।इस सेल से लखनऊ और सहारनपुर के सरकारी मैंगो पैक हाउस के साथ साथ अन्य निजी पैक हाउस भी जुड़े हैं।''

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश के 50 लाख किसानों पर 60 हजार करोड़ का कर्ज

मैंगो एक्सपोर्ट सेल के अनुसार उत्तरप्रदेश में स्थापित किए गए मैंगो पैक हाउस व्दारा वर्ष 2004 से वर्ष 2016 तक विभिन्न देशों में कुल 1414.8 मिट्रिक टन आमों का निर्यात किया गया है। इसमें लखनऊ के मैंगो पैक हाउस से 315.212 मिट्रिक टन और सहारनपुर मैंगो पैक हाउस से 1099.588 मिट्रिक टन का योगदान रहा है।

मैंगो एक्सपोर्ट सेल प्रबंधक सतीश सिंह ने बताया, अगर पिछले वर्ष की तुलना की जाए, तो इस बार प्रदेश में आम बहुत कम हुआ है,लेकिन कम उत्पादन के बावजूद आम का आकार बड़ा है। विदेशों में अच्छी गुणवत्ता के साथ-साथ बड़े आकार वाले आम की मांग ज़्यादा है।ऐसे में इस बार हम विदेशों में आम का निर्यात भले ही अधिक ना कर पाएं, लेकिन गुणवत्ता के मामले में यूपी के आमों की क्वालिटी सबसे अच्छी रहेगी।

मैंगो एक्सपोर्ट सेल की मदद से प्रदेश के सहारनपुर और लखनऊ के मैंगो पैक हाउसों से नेपाल, यूएई, लंदन, जापान, नार्वे, कतर, ईरान, जेनेवा, जर्मनी,इंग्लैंड, यूएसए,आस्ट्रेलिया,कुवैत, दोहा, रोम, इटली और दुबई के निर्यातकों तक आम सीधे तौर पर निर्यात किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें- योगी सरकार ने शुरू की किसानों के लिए हेल्पलाइन

प्रदेश में आम निर्यात के बारे में कृषि उप निदेशक लखनऊ मंडल मंजू मिश्रा ने बताया,'' प्रदेश में आम का निर्यात जून के अंत तक शुरू हो जाता है। इसलिए मैंगो एक्सपोर्ट सेल अभी से ही मैंगो पैक हाउसों में सारी तैयारियां सुनिश्चित कर रहा है। पिछले महीने ईरान का एक डेलिगेशन लखनऊ के रहमानखेड़ा मैंगो पैक हाउस आकर आमों का ब्योरा भी ले चुका है।''

मैंगो एक्सपोर्ट सेल की मदद से विदेशों तक यूपी के आमों की पहुंच लगातार बढ़ रही है। राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद द्वारा जारी की गई आम निर्यात की वार्षिक सूची के अनुसार पिछले चार वर्षों में विदेशों में यूपी के आम के निर्यात में जबरदस्त बढ़ोत्तरी हुई है। वर्ष 2013 में यूपी से विदेशों तक कुल 37.54 मिट्रिक टन आम निर्यात हुआ, वहीं यह संख्या वर्ष 2016 तक पहुंचकर 382.146 मिट्रिक टन हो गई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top