गाजियाबाद में पिछली सरकार की अपेक्षा ज्यादा मिल रही बिजली  

Pankaj TripathiPankaj Tripathi   30 Jun 2017 3:48 PM GMT

गाजियाबाद में पिछली सरकार की अपेक्षा ज्यादा मिल रही बिजली  गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह ने पिलखुंआ में बने 10वें आईडीपीएस बिजलीघर का उद्घाटन किया है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गाजियाबाद। जिले के सभी ब्लाकों में स्थानीय लोगों और किसानों ने बिजली को लेकर अपनी राय व्यक्त की। भोजपुर में किसानों ने जहां योगी सरकार के 100 दिन के कामकाज में बिजली सप्लाई को लेकर प्रसन्नता व्यक्त की, वहीं लोनी ब्लाक के ज्यादातर किसान भी बिजली सप्लाई से संतुष्ट नजर आए। उधर, मुरादनगर में कुछ घटनाओं को लेकर बिजली विभाग से लोगों को शिकायत है, जबकि रजापुर ब्लाक में ज्यादातर किसान बिजली व्यवस्था से खुश नजर आए।

अगर कुल मिलाकर देखा जाए तो गाजियाबाद में ज्यादातर किसान योगी सरकार के बिजली व्यवस्था से संतुष्ट नजर आए। भोजपुर ब्लाक के अकबर अली (48 वर्ष) का कहना है, “पिछली सरकार की अपेक्षा वर्तमान सरकार ने बिजली व्यवस्था को लेकर अब तक जो भी काम किया है हम उससे बहुत संतुष्ट हैं।

ये भी पढ़ें- बिजली की समस्या के चलते कृषि ऐप का उपयोग नहीं कर पा रहे यूपी के किसान

गाँवों को 18 घंटे बिजली आज तक के इतिहास में किसी सरकार ने नहीं दी, लेकिन योगी सरकार गाँवों को 18 घंटे बिजली दे रही है। अब इससे किसान समय पर सिंचाई भी कर रहे हैं।” लोनी ब्लाक से सबसे युवा ग्राम प्रधान सोहित बिजली की सप्लाई को लेकर संतुष्ट नजर आए। रजापुर ब्लाक के नूरपुर गाँव के किसान महेंद्रपाल (50 वर्ष) का कहना है, “गाँवों में बिजली आने से हम बहुत खुश हैं। जानवरों की चोरी बहुत बड़ी समस्या थी इस क्षेत्र की बिजली आने व पुलिस टीम के लगातार गस्त करने से अब वो समस्या दूर हो गई है।”

गाजियाबाद के मुख्य अभियंता सुनील गुप्ता ने बताया नए कनेक्शन के लिए शासन के द्वारा जो लक्ष्य तय किया गया था उसकी अपेक्षा 156 फीसदी टारगेट पूरा कर लिया गया है। 451 ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाने का लक्ष्य हमें दिया गया था और विभाग द्वारा अब तक 476 ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाई जा चुकी है। इसके साथ-साथ जिले में 10 नए बिजली घर बनकार तैयार कर चालू करा लिए गए हैं। गाजियाबाद के सांसद ने पिलखुंआ में बने 10वें आईडीपीएस बिजलीघर का उद्घाटन किया है। ये सभी कार्य पिछले 100 दिनों में पूरे किए गए हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top