विधवा की सास ने बेचा आशियाना, दबंगों ने ढहाया

विधवा की सास ने बेचा आशियाना, दबंगों ने ढहायायहां था घर, जो अब दबंगो ने गिरा दिया

विकास गुप्ता - स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

अछल्दा/औरैया़। पति की मौत के बाद अपने बच्चों के साथ रह रही गरीब विधवा के आशियाने को बेच उसकी सास और देवर ने घर से बेघर कर दिया। दबंगों ने घर को खाली कराने के लिए घर को ही खंडहर में तब्दील कर दिया।

जिला मुख्यालय से 30 किमी दूर बसे गाँव चिंता का नगला निवासी गरीब विधवा महिला मुन्नी देवी (56वर्ष) के पति कालगभग पांच साल पहले देहांत हो गया था। तब से महिला अपनी तीन लडकियों के साथ मिलकर मेहनत मजदूरी कर जीवनयापन कर रही थी।

ये भी पढ़ें- ऋणमाफी के लिए बैंक खाते से आधार लिंक कराना जरूरी

मुन्नी ने बताया,“बंटवारे में मिले पैतृक आवास में मैं 40 साल से रह रही है। सास फूलमती और देवर श्याम सुंदर ने मेरे हिस्सेकी जमीन का गाँव के ही एक दबंग के नाम फर्जी नाम बैनामा कर दिया। मामले की जानकारी तब हुई जब गांव के लोग घरगिराने लगे। घर पर मौजूद पुत्रियां पप्पी, सपना और रोशनी ने घर गिराने से मना किया लेकिन दबंग नहीं माने। पुलिस के आनेपर दबंग भाग निकले। सास और देवर ने उसको घर से बेघर कर दिया।”

महिला ने डीएम जय प्रकाश सगर से फर्जी बैनामा को अमान्य मानते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

ये भी पढ़ें- किसानों की ऋणमाफी को लेकर प्रशासनिक तैयारी तेज़

अछल्दा थानाध्यक्ष राजा दिनेश सिंह ने बताया, “घर गिराए जाने की खबर मिलने पर सिपाहियों को मौके पर भेजा गया, पुलिस को देखकर आरोपी भाग जाने में सफल रहे।मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।”

डीएम जय प्रकाश सदर ने बताया, “महिला की शिकायत पर एसडीएम बिधूना को जांच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। महिला को उसका हक वापस दिलाया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top