नगरपालिका कर्मियों की करतूत, बेच दिए स्कूल के कमरे 

नगरपालिका कर्मियों की करतूत, बेच दिए स्कूल के कमरे स्कूल का निरीक्षण करते अलीगढ़ के जिलाधिकारी।

परवेश वर्मा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

अतरौली (अलीगढ़)। जिला मुख्यालय 30 किमी दूर नगरपालिका अतरौली जनपद मुख्यालय पर चर्चाओं में रहती है, लेकिन इस बार पालिका कर्मियों ने सरकारी स्कूल के कमरे ही बेच दिए।

इस बार पालिका कर्मियों द्वारा सरकारी स्कूल के कमरे बेचने का मामला सामने आया है। जून की छुट्टियों में एक दुकानदार ने स्कूल के कमरों के गेट दीवार लगाकर बंद कर दिए और अपना गोदाम बना लिया। यह शिकायत जब डीएम ऋषिकेश भास्कर याशोद और एसएसपी राजेश पांडेय के पास पहुंची तो उन्होंने पुलिस भेज कर दुकानदार को हिरासत में करा दिया। डीएम एसडीएम को जांच के आदेश दिए हैं। प्रधानाध्यापिका फहमीदा के तहरीर पर दुकानदार विजय के खिलाफ सरकारी संपति अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

जिला अलीगढ़ के कस्बा अतरौली के महिला चिकित्सालय के पास प्राइमरी स्कूल नंबर आठ संचालित है। स्कूल के एक कोने पर कई साल पहले नगर पालिका ने दुकान बनाकर एक दुकानदार को किराए पर दे दी। जून के महीने में स्कूल बंद रहा तो दुकानदार ने दुकान के ठीक पीछे बने स्कूल के कमरों के गेट बंद कर अपनी दुकान में से रास्ता करके गोदाम बना लिया। सोमवार को स्कूल खुले तो प्रधानाध्यापिका को जानकारी हुई उसने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया मगर कोई सुनवाई नहीं हुई।

जब यह प्रकरण डीएम और एसएसपी के समक्ष पहुंचा। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए खरी खोटी सुनाई और नायब तहसीलदार अजीत कुमार व कोतवाल शत्रुघन उपाध्याय के साथ मौके पर फोर्स भेजा।

चौदह हजार महिलाओं ने स्वच्छ भारत अभियान को दी रफ्तार

दुकानदार से पूछताछ की तो उसने बताया, "नगर पालिका के कर्मचारियों ने यह जगह अपनी बताकर उसे दी है। जब पालिका कर्मियों से डीएम ने जवाब मांगा तो वह कोई पत्रावलि नहीं दिखा सके और न ही यह बता सके कि आखिर दुकानदार द्वारा जमीन के एवज में दी गई रकम सरकारी खजाने में किस मद में जमा हुई है। बताया जाता है यह करतूत पूर्व में नगर पालिका में तैनात रहे कुछ कर्मचारियों की है। इनमें से कुछ रिटायर हो चुके हैं।"

डीएम ऋषिकेश भास्कर याशोद कहते हैं, "इस प्रकरण की जांच कराई जा रही है जो भी दोषी होगा कार्रवाई होगी।"

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top