बाराबंकी के केंद्रों पर नहीं हो रही धान खरीद, किसान परेशान

Kavita DwivediKavita Dwivedi   10 Nov 2017 3:32 PM GMT

बाराबंकी के केंद्रों पर नहीं हो रही धान खरीद, किसान परेशानफोटो प्रतीकात्मक 

श्रवण चौहान/ स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

बाराबंकी। प्रदेश में धान खरीद की शुरुआत हो चुकी है, जिससे किसानों को अपनी फसल बिचौलियों को न बेचनी पड़े और उन्हें अच्छा मुनाफा भी हो, लेकिन प्रदेश सरकार का ये प्रयास जिले के सिद्धौर ब्लॉक में बेअसर साबित हो रहा है।

विकासखंड सिद्धौर की 96 ग्राम पंचायतों के किसानों की धान खरीद के लिये प्रशासन द्वारा पांच क्रय केन्द्र खोले गये थे, जिसमें मात्र एक क्रय केन्द्र सिद्धौर पर ही खरीद हो रही है, जिसके चलते किसान अपने खून पसीने की मेहनत से पैदा किया गया धान औने-पौने दामों पर बिचौलियों के हाथों बेचने को मजबूर हैं।

ये भी पढ़ें-धान क्रय केंद्र पर पसरा सन्नाटा

वहीं अवध राम (40 वर्ष) बताते, “हम लोग धान लेकर आते तो हैं लेकिन क्रय केंद्र पर खरीद न होने की वजह से हमको अपनी फसल बिचौलियों को बेचनी पड़ती है। क्योंकि घर से यहां तक लाना और फिर वापस ले जाना बहुत ही कठिन है। इस संबंध में जब क्रय केंद्र प्रभारी हरनाम सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया, “लगभग 300 कुंतल धान खरीदा गया है।”

त्रिवेदीगंज ब्लॉक के नरेन्द्रपुर मदरहा में रहने वाले गणेश बाजपेयी बताते हैं, “हम लोग अपने धान यही गाँव के पास की दुकान पर ही बेच देते हैं क्योंकि यहां पर हम लोग जो भी ले जाते हैं उसे ले लिया जाता है जबकि सरकारी दुकान पर धान की सफाई कर के तब उसे लिया जाता है, जिसकी वजह से हमलोगों को नुकसान होता है।”

ये भी पढ़ें-बैंक और क्रय केंद्रों की दूरी से गेहूं किसान परेशान

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top