जुमे की नमाज के बाद आतंकवाद के खात्मे को बुलंद हुई आवाज

Khadim Abbas RizviKhadim Abbas Rizvi   9 Jun 2017 6:12 PM GMT

जुमे की नमाज के बाद आतंकवाद के खात्मे को बुलंद हुई आवाजजौनपुर शहर के चहारसू चौराहा स्थित शिया जामा मस्जिद में उपस्थित नमाजी व अन्य लोग।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

जौनपुर। ईरानी संसद पर हुए आतंकवादी हमले के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद शिया समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान शिया समुदाय के लोगों ने आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए आवाज बुलंद की। विरोधी जलसा आयोजित किया और फिर आतंकवाद का पुतला दहन कर पाकिस्तान, सउदी अरब और अमेरिका के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा गया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गौरतलब है कि बुधवार को ईरानी संसद और ईरान के सुप्रीम लीडर रहे आयतुल्लाह खुमैनी की मजार पर आतंकवादी हमला हुआ था, जिसमें कई लोग मारे गए थे। इसके बाद से तमाम जगह पर लोगों ने इसका विरोध किया। लखनऊ, वाराणसी के अलावा जौनपुर में भी लोगों ने प्रदर्शन किया। शहर के चहारसू चौराहा स्थित शिया जामा मस्जिद में इमामे जुमा मौलाना महफूजुल हसन की अध्यक्षता में विरोधी जलसा हुआ।

ये भी पढ़ें : जौनपुर को अगले वर्ष से मिल जाएगी मेडिकल कॉलेज की सुविधा

महफूजुल हसन ने कहा,“ आतंकवाद को अब जड़ से खत्म करने की जरूरत है। जो भी मुल्क आतंकवाद से ग्रस्त हैं, वह अब एक हो जाएं। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान सबसे ज्यादा आतंकवाद के खिलाफ आवाज उठाने वाले देशों में एक है। बार्डर पर लगातार आतंकवादी हमला हो रहा है। वहीं ईरान पर हमला कर भी आतंकवादियों ने कायरता वाला काम किया है।” जलसे में मोहम्मद हसन ने कहा, “पूरी दुनिया में हो रहे आतंकवादी हमले की हम निंदा करते हैं।” इस दौरान मस्जिद में आतंकवादियों के खात्मे के लिए मखसूसी की दुआ भी कराई गई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top