टाइगर रिजर्व में अब सैर सपाटा पड़ेगा महंगा

टाइगर रिजर्व में अब सैर सपाटा पड़ेगा महंगाफोटो: गाँव कनेक्शन 

नीतीश तोमर/स्वयं कम्युनिटी जनर्लिस्ट

पीलीभीत। हर वर्ष की तरह पर्यटकों के सैर सपाटे के लिए टाइगर रिजर्व के जंगल भ्रमण का सीजन इस बार 15 नवंबर से शुरू हो रहा है, जिसके लिए वन विभाग ने तैयारियां युद्धस्तर पर शुरू कर दी हैं। इस बार पर्यटन का जिम्मा वन विभाग के पास रहेगा, लेकिन इस बार वन विभाग ने हटों का किराया बढ़ा दिया है। जिससे टाइगर रिजर्व में पर्यटकों का सैर सपाटा उनकी जेबों पर भारी पड़ेगा। इस बार टाइगर रिजर्व में निजी वाहनों का प्रवेश पूर्णतया बंद कर दिया गया है।

नौ जून 2014 को पीलीभीत के जंगलों को टाइगर रिजर्व घोषित करने के बाद से ही बड़ी संख्या में पर्यटक जंगलों में भ्रमण के लिए आते हैं। पिछले वर्ष 30 जून को टाइगर रिजर्व पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था। पिछले सीजन में वन विभाग के आंकड़ों के अनुसार टाइगर रिजर्व एवं चूका स्पॉट का लुत्फ उठाने के लिए 17,566 पर्यटक पहुंचे थे, जिससे वन विभाग को 29 लाख का राजस्व प्राप्त हुआ था।

ये भी पढ़ें-पीलीभीत में एक हजार एकड़ ज़मीन पर बनेगा टाइगर सफारी

इस वर्ष टाइगर रिजर्व का नया सीजन 15 नवंबर से शुरू होने जा रहा है। इस बार टाइगर रिजर्व में आने वाले पर्यटकों को चूका स्पॉट के अलावा महोफ रेस्ट हाउस में जंगल का आनंद और सात झाल देखने का मौका भी मिलेगा, लेकिन विभाग ने इस बार चूका स्पॉट में पर्यटकों के ठहरने के लिए हटों का किराया बढ़ाने के साथ-साथ जंगल में घूमने का समय भी निश्चित कर दिया है। अभी तक टाइगर रिजर्व में जिन हटों का किराया वन विभाग 1000 के करीब रखा था। अब वन विभाग ने 1200 से 2000 रुपए प्रति व्यक्ति कर दिया है। अब हटों का किराया उसमें ठहरने वाले पर्यटकों की संख्या पर निर्भर करेगा।

अब टाइगर रिजर्व के चूका स्पॉट में बनी हटों की बुकिंग वन विभाग द्वारा जारी की गई वेबसाइट पर की जा सकेगी। जिसके लिए वन विभाग ने सारी व्यवस्थाएं अपने हाथ में ले ली हैं। वन विभाग द्वारा जारी वेबसाइट पर चूका स्पॉट, लखीमपुर खीरी के दुधवा नेशनल पार्क दोनों की बुकिंग की जा सकेगी। पर्यटकों को वेबसाइट पर ऑनलाइन भुगतान करने की सुविधा भी दी गई है।

पिछले वर्ष की तरह पीलीभीत टाइगर रिजर्व में आने वाले पर्यटकों को शहर के नेहरु पार्क से ही वन विभाग की गाड़ियां उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा पूरनपुर, माधोटांडा क्षेत्र से आने वाले पर्यटकों के लिए मुस्तफाबाद गेस्ट हाउस में ही अपने वाहन खड़े करने होंगे।

ये भी पढ़ें-‘पीलीभीत टाइगर रिजर्व’ में स्टाफ की कमी बन रही सुरक्षा कर्मियों के लिए ही खतरा

जंगल घुमाने के लिए गाइडों की भर्ती

इस बार टाइगर रिजर्व प्रशासन ने पर्यटकों को जंगल घुमाने के लिए 52 टूरिस्ट गाइडों की भर्ती की है। इस बार 15 नवंबर से शुरू होने वाले सीजन में पर्यटकों को विभागीय वाहनों के साथ टूरिस्ट गाइड भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

गर रिजर्व में स्थित हटों की मरम्मत कराकर रंगाई-पुताई के माध्यम से एक नया लुक दिया गया है। इसके साथ-साथ पिछले वर्ष की अपेक्षाकृत इस बार अधिक पर्यटकों के आने की उम्मीद है।&n
कैलाश प्रकाश, डीएफओ

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top